MP: बीच सड़क पर आराम फरमा रहे हैं आवारा पशु, राहगीर हो रहे परेशान और चोटिल

जर्जर कांजी हाउस और आवारा मवेशियों को लेकर कार्रवाई न कर पाने वाली नगर पालिका परिषद को शहर से सटी गौशालाओं का सहारा है. 

MP: बीच सड़क पर आराम फरमा रहे हैं आवारा पशु, राहगीर हो रहे परेशान और चोटिल
जिम्मेदार समय-समय पर इन गौशालाओं में आवारा पशुओं को भेजने की बात कह रहे है.

सचिन जोशी/झाबुआ: इन दिनों झाबुआ की सड़कों पर डेरा डाले आवारा पशुओं का जमावड़ा आम राहगीरों के लिये मुसीबत का सबब बना हुआ है. कई बार आवारा मवेशी राहगीरों के लिये दुर्घटना का कारण बन चुके हैं. नगर पालिका के आधिपत्य का कांजी हाउस जर्जर हो चुका है और नए कांजी हाउस के लिये नगर पालिका अबतक कोई ज़मीन तलाश नही कर पाई है.

झाबुआ शहर की सड़कों पर कब्जा जमाए आवारा मवेशी को लेकर नगर पालिका की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे है. शहर के लगभग सभी प्रमुख चौराहों और प्रमुख मार्गों पर आवारा पशु हादसों को न्योता दे रहे हैं. कई बार शिकायत के बावजूद नगर पालिका की ओर से आवारा मवेशियों को पकड़ने और उन्हें शहर से बाहर करने की कोई कार्रवाई नही की जा रही है. नगर पालिका की लापरवाही के चलते शहरवासी दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं.

जर्जर कांजी हाउस और आवारा मवेशियों को लेकर कार्रवाई न कर पाने वाली नगर पालिका परिषद को शहर से सटी गौशालाओं का सहारा है. जिम्मेदार समय-समय पर इन गौशालाओं में आवारा पशुओं को भेजने की बात कह रहे है. यही नही नगर पालिका के कांजी हाउस पर कब्जे की भी शिकायत सामने आ रही है. हालांकि जिम्मेदार जल्द कांजी हाउस का निर्माण किये जाने का दावा कर रहे है.