20 को अम्बिकापुर को स्वच्छता का तमगा दिलाने वाली दीदीयों से बात करेंगे PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के नतीजे 20 अगस्त को देश के सामने रखेंगे. देश के राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण का ये पांचवां संस्करण है.

20 को अम्बिकापुर को स्वच्छता का तमगा दिलाने वाली दीदीयों से बात करेंगे PM मोदी
फाइल फोटो

सुशील कुमार /अंबिकापुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के नतीजे 20 अगस्त को देश के सामने रखेंगे. देश के राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण का ये पांचवां संस्करण है. इस दौरान पीएम मोदी अम्बिकापुर को स्वच्छता तमगा दिलाने वाले में महत्वपूर्ण योगदान देने वाली स्वच्छता दीदीयों से भी सीधी बात करेंगे. कार्यक्रम के दौरान प्रदेश की कुल 10 स्वच्छता दीदीयां मौजूद रहेंगी, जिनसे प्रधानमंत्री चर्चा करेंगे.

मंत्रालय के प्रवक्ता ने मंगलवार को बताया कि 4242 शहरों, 62 छावनी बोर्ड और गंगा नदी के किनारे स्थित 92 नगरों के सर्वेक्षण में 1.87 करोड़ नागरिकों ने भागीदारी की . जैन ने बताया कि ‘स्वच्छ महोत्सव' में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शहरों को कुल 129 पुरस्कार दिए जाएंगे. जबकि केंद्रीय आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए देश के विभिन्न भागों के स्वच्छ भारत मिशन-शहरी (एसबीएम-यू) के चुनिंदा ‘स्वच्छाग्रहियों' और सफाईकर्मियों से भी संवाद करेंगे. स्वच्छ महोत्सव में स्वच्छता सर्वेक्षण रिपोर्ट के अलावा स्वच्छ सर्वेक्षण नवोन्मेष पर रिपोर्ट, स्वच्छ सर्वेक्षण सोशल मीडिया रिपोर्ट और गंगा के किनारे बसे नगरों पर रिपोर्ट भी जारी की जाएगी.

पत्नी से झगड़ा करके बांध में कूदा पति, एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर ने किया रेस्क्यू तो उतर गया गुस्सा

प्रधानमंत्री और स्वच्छता दीदीयों के बीच होने वाली बातचीत को लेकर अम्बिकापुर के नवापारा एसएलआरएम केन्द्र में प्रशासनिक तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इसी ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन केन्द्र में बैठकर ही स्वच्छता दीदीयां पीएम से चर्चा करेंगी. अम्बिकापुर के मेयर डॉ. अजय तिर्की मानते हैं कि कोरोना और हर विपरीत परिस्थियों में स्वच्छता दीदीयों ने सिस्टम को फेल नहीं होने दिया. ऐसे में अगर प्रधानमंत्री उनसे बात करेंगे, तो ये निगम अमले के साथ सबके लिए सौभाग्य की बात है.

ये भी पढ़ें : सूरजपुर: हाथी की मौत में दो लोगों की गिरफ्तारी के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने किया हंगामा

इधर स्वच्छता दीदीयों की मानें तो, वो काफी उत्साहित हैं और प्रधानमंत्री को चर्चा के दौरान अम्बिकापुर के एसएलआरएम केन्द्र के निरीक्षण का न्यौता भी देंगी. स्वच्छता दीदीयों की अध्यक्ष स्वाति सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री से चर्चा के दौरान वो एसएलआरएम केन्द्रों के लिए घर-घर से कचरा लाने वाली स्वच्छता दीदीयों के लिए पीएम आवास, उज्ज्व्ला योजना जैसी कई केन्द्रीय योजनाओं का लाभ देने की मांग भी करेंगी.

सर्वेक्षण के पहले संस्करण में भारत में सबसे स्वच्छ शहर का खिताब मैसुरू ने हासिल किया था, जबकि इसके बाद इंदौर लगातार तीन साल तक (2017, 2018, 2019) शीर्ष स्थान पर रहा.  मंत्रालय ने कहा है कि 20 अगस्त को नतीजों की घोषणा हो जाएगी. कोविड-19 महामारी के कारण इस बार इसमें देरी हुई है. 

WATCH LIVE TV