ग्वालियर: डीजी ट्रैक मशीन लूटकर भागे थे आरोपी, हथियारों की नोक पर दिया था वारदात को अंजाम

लुटेरों के पास से लूटी गई 15 लाख की कीमत वाली मशीन और अन्य हथियार भी बरामद हुए हैं. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुट गई है. 

 ग्वालियर: डीजी ट्रैक मशीन लूटकर भागे थे आरोपी, हथियारों की नोक पर दिया था वारदात को अंजाम
डीजी ट्रेक मशीन को लूटकर भागे थे लुटेरे

ग्वालियर: ग्वालियर में कुछ लुटेरों ने बीते अप्रैल में डीजी ट्रेक मशीन को लूटकर भागने की घटना को अंजाम दिया था, जिन्हें पुलिस ने धर दबोचा है. लुटेरों के पास से लूटी गई 15 लाख की कीमत वाली मशीन और अन्य हथियार भी बरामद हुए हैं. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुट गई है. 

दरअसल महाराजपुरा थाना क्षेत्र के ग्राम भोडेरी में 20 अप्रैल 2019 को एक निजी कंपनी के द्वारा फाइबर केबल अंडर ग्राउंड डालने का काम किया जा रहा था. उसी दिन करीब रात 2 बजे दो मोटरसाइकिल पर अज्ञात लुटेरे हथियार की नोक पर सुपरवाइजर ऑपरेटर हर्ष चौहान से फाइबर केबल डालने वाली डिजिट्रेक मशीन लूटकर फरार हो गए, जिसकी कीमत 15 लाख रुपए थी. इसके बाद सुपरवाइजर ऑपरेटर शिकायत लेकर थाने पहुंचा और पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी. 

गौरतलब है कि, 25 दिसंबर 2019 को पुलिस को सूचना मिली थी कि मनोज राजावत, नागेंद्र सोलंकी, शिवम राजावत, विवेक सेंगर और शैलू तोमर नाम के युवकों ने मिलकर इस लूट की घटना को अंजाम दिया था. मुखबिर की सूचना मिलते ही पुलिस ने शैलू तोमर को पकड़ लिया और जब उससे पूछताछ की तो लूटी गई मशीन उसके घर से बरामद की गई. वहीं पुलिस ने वारदात में शामिल विवेक सेंगर को भी गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक देसी कट्टा जप्त किया है.

बता दें कि घटना के संबंध में पूछताछ की गई तो अन्य आरोपी मनोज राजावत इस वक्त थाना गोला मंदिर क्षेत्र में हुई लूट के मामले में जेल में बंद है और आरोपी नागेंद्र जिला मुरैना के थाना दिमनी में हुई छेड़खानी और फायरिंग के अपराध में जेल मुरैना में सजा काट रहा है वही अन्य फरार आरोपी शिवम राजावत की तलाश में पुलिस जुटी हुई है.