close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जंगल में पेड़ पर फंदे से लटकी 5-7 दिन पुरानी लाश पर पुलिस ने डाला पानी, SP ने दिए जांच के आदेश

पुलिसकर्मियों ने बिना एफएसएल टीम की उपस्थिति के लाश के ऊपर पहले डिब्बों से पानी डाला और उसके बाद लाश को फांसी के फंदे से नीचे उतार लिया.

जंगल में पेड़ पर फंदे से लटकी 5-7 दिन पुरानी लाश पर पुलिस ने डाला पानी, SP ने दिए जांच के आदेश
मामले को संज्ञान में लेते हुए एसपी ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के सागर जिले के सानौधा थाना के अर्न्तगंत आपचंद गुफा के पास गढ़ाकोटा रोड के जगंल में शुक्रवार को एक युवक की लाश पेड़ पर फांसी के फंदे पर लटकी हुई मिली. फंदे पर लटकी यह लाश पांच से सात दिन पुरानी लग रही थी. ऐसे में घटना की जानकारी देने पर मौके पर पहुंची पुलिस की लापरवाही उस वक्त सामने आई जब पुलिसकर्मियों ने बिना एफएसएल टीम की उपस्थिति के लाश के ऊपर पहले डिब्बों से पानी डाला और उसके बाद लाश को फांसी के फंदे से नीचे उतार लिया. जबकि नियमानुसार एफएसएल टीम की उपस्थिति के बिना लाश के साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है.

ऐसे में अब पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठने खड़े हो गए हैं. वहीं पुलिस पर लाश के साथ छेड़छाड़ के भी आरोप लग रहे हैं. बता दें यह मामला भारतीय दंड संहिता धारा 201 और सबूतों के साथ छेड़छाड़ के तहत आता है. वहीं मौके पर जब एफएसएल की टीम पहुंची तो वह भी लाश को नीचे उतरा देख वापस लौट गई. फिलहाल मृतक युवक की शिनाख्त नहीं हो पाई है. लाश से कुछ दूर एक लोअर भी पड़ा हुआ मिला है. 

ऑटो से आए युवक और घर के बाहर रख गए लड़की का शव, नजारा देख उड़ गए लोगों के होश

मौके पर पहुंचे पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि मामला प्रथम दृष्टया आत्महत्या का लग रहा है, परंतु हत्या से भी इनकार नहीं किया जा सकता है. इस तरह से लाश पर पानी डालने का यह संभवत प्रदेश का पहला मामला सामने आया है. इस मामले को पुलिस के अधिकारियों ने संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही जांच में दोषी पाए जाने वाले पुलिसकर्मियों पर पर दंडात्मक कार्रवाई की बात कही है. वहीं लाश को देखने वाले लोगों का कहना है कि फंदे से लटकी लाश काफी गंभीर हालत में थी और यह पांच से सात दिन पुरानी लग रही थी.