close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चेकिंग में पुलिस को कार से मिले 7 लाख 95 हजार रुपये, चालक नहीं दे पाया रुपयों का हिसाब

हालांकि टीकमगढ़ लोकसभा सीट पर 6 मई को मतदान हो चुका है पर अभी जिले की सीमा से सटे सागर जिले में कल 12 मई को मतदान होना बाकी है, लिहाजा बॉर्डर पर पुलिस की सघन चैकिंग लगातार जारी है .

चेकिंग में पुलिस को कार से मिले 7 लाख 95 हजार रुपये, चालक नहीं दे पाया रुपयों का हिसाब
सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में एसएसटी टीम और पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से की जा रही वाहन चेकिंग के दौरान एक बोलेरो गाड़ी से 7 लाख 95 हजार रुपये जप्त किये गए हैं. पूछताछ करने पर वाहन सवार किशोरी लाल गुप्ता ना तो कोई पैसों का हिसाब बता पाया और ना ही कोई कागजात पेश कर सका, जिस पर बड़ागांव थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए रुपये जप्त कर वैधानिक कार्यवाही की है. हालांकि टीकमगढ़ लोकसभा सीट पर 6 मई को मतदान हो चुका है पर अभी जिले की सीमा से सटे सागर जिले में कल 12 मई को मतदान होना बाकी है, लिहाजा बॉर्डर पर पुलिस की सघन चैकिंग लगातार जारी है और उसी चेकिंग के दौरान टीकमगढ़ सागर मार्ग पर बडागांव के पास बोलेरों गाड़ी से ये रूपये जप्त किये गए है.

फिलहाल पूरे मामले की बारीकी से जांच में पुलिस के साथ इनकम टैक्स विभाग भी जुटा हुआ है. ऐसी भी सम्भवना जताई जा रही है कि इन रुपयों का उपयोग सागर में 12 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनाव में किया जाना था. फिलहाल पकड़े गए युवक से पुलिस पुछताछ कर रही है और रुपये किसके हैं, यह जानने की कोशिश में लगी हुई है. इसके साथ ही निर्वाचन आयोग को भी पकड़े गए रुपयों की जानकारी दे दी गई है.

पीएम मोदी ने कहा, ''अगर मोदी गलती करे, तो मोदी के घर भी इनकम टैक्स छापा मारे''

बता दें इससे पहले पुलिस को इंदौर में एक बाइक सवार के पास से 11 मिले थे. पुलिस को ये रुपये वाहन चेकिंग के दौरान बरामद मिले थे. संवारे पुलिस के द्वारा वाहन चेकिंग की जा रही थी इसी दौरान एक बाइक सवार युवक को रोका गया, जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाशी ली तो उसके पास से ग्यारह लाख रुपये मिले.

दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले DND टोल मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

बता दें एक रिपोर्ट में कहा गया था कि काले धन के इस्तेमाल के मामले मध्य प्रदेश पहले नंबर पर है. रिपोर्ट में कहा गया था कि मध्य प्रदेश में चुनावों में काले धन का इस्तेमाल सबसे ज्यादा हो रहा है.