प्रणब मुखर्जी: वो कांग्रेसी जो पार्टी के लाख विरोध के बावजूद RSS के बुलाने पर पहुंचा था संघ कार्यालय

प्रणब मुखर्जी देश के तेहरवें राष्ट्रपति थें. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी 47 साल कांग्रेस के साथ जुड़े रहे. 25 जुलाई 2012 को उन्होंने राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली थी. उनका कार्यकाल 2017 तक रहा और 2019 में उन्हें भारत रत्न से नवाजा गया था. 

प्रणब मुखर्जी: वो कांग्रेसी जो पार्टी के लाख विरोध के बावजूद RSS के बुलाने पर पहुंचा था संघ कार्यालय
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दुनिया को कहा अलविदा

नई दिल्ली: पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का 84 वर्ष की उम्र में दिल्ली के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया है. इस बात की जानकारी पूर्व राष्ट्रपति के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर दी है.  पूर्व राष्ट्रपति कोरोना संक्रमित होने के बाद बीते कई दिनों से अस्पताल में थे, जहां उनकी ब्रेन सर्जरी भी हुई थी. सोमवार सुबह अचानक तबियत बिगड़ने पर उन्हें सेप्टिक शॉक लगा और उनका निधन हो गया.

प्रणब मुखर्जी देश के तेहरवें राष्ट्रपति थें. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी 47 साल कांग्रेस के साथ जुड़े रहे. 25 जुलाई 2012 को उन्होंने राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली थी. उनका कार्यकाल 2017 तक रहा और 2019 में उन्हें भारत रत्न से नवाजा गया था. 

जब संघ के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर गए थे प्रणब मुखर्जी
2018 में प्रणब मुखर्जी आरएसएस के कार्यक्रम 'संघ शिक्षा वर्ग-तृतीय' में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करने नागपुर गए थे. इस बात को जानकर खुद कांग्रेस नेता हैरान थे, लेकिन किसी ने खुल कर इस बारे में कुछ नहीं कहा था.

ये भी पढ़ें-भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा भी कोरोना पॉजिटिव, एक विधायक भी हुआ संक्रमित

कांग्रेस नेता ने किया था विरोध
कांग्रेस नेता संदीप दिक्षित ने इस पर विरोध जताया था. संदीप दीक्षित बड़ा बयान देते हुए कहा था, ‘प्रणब मुखर्जी सांप्रदायिकता और हिंसा में संघ की भूमिका पर सवाल उठा चुके हैं. उन्होंने ही संघ को राष्ट्रविरोधी बताया था और कहा था इसे देश में नहीं होना चाहिए.’

संदीप दिक्षित ने कहा था कि प्रणब मुखर्जी संघ को सांप से भी जहरीला मानते हैं. अब वो कार्यक्रम में जा रहे हैं. दिक्षित ने कहा था, ''क्या प्रणब मुखर्जी ने अपनी विचारधारा बदल दी है या संघ में ही कोई स्वाभिमान नहीं बचा है.''

भाजपा ने कांग्रेस को दिया था ये जवाब
जिसके बाद भाजपा ने संदिप दिक्षित की इस बात का कड़ा जवाब दिया था. बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने कहा था, ऐसा मुद्दा क्यों उठाया जा रहा है, क्या RSS कोई पाकिस्तानी संगठन है? साथ ही गडकरी ने बड़ा उदहारण देते हुए कहा था कि लोग शराब की दुकान में जाते है डांस बार में जाते हैं, प्रणब मुखर्जी तो केवल संघ के कार्यक्रम में ही जा रहे हैं. 

Watch LIVE TV-