'पढ़ाई तुहर दुआर' योजना के तहत एक लाख 88 हजार 526 ऑनलाइन क्लास लगा रायगढ़ अव्वल

रायगढ़ जिले के कलेक्टर भीम सिंह ने बताया कि राज्य शासन की महत्वपूर्ण योजना 'पढ़ाई तुहर दुआर' योजना  के तहत ऑनलाइन क्लासेस शुरू की गई थी. जिसमें रायगढ़ जिला पहले स्थान पर आया है. जहां इंटरनेट की सुविधा नहीं है उन गांव में लाउडस्पीकर के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाता है.

'पढ़ाई तुहर दुआर' योजना के तहत एक लाख 88 हजार 526 ऑनलाइन क्लास लगा रायगढ़ अव्वल
फाइल फोटो

रायगढ़: कोरोना संकट के बीच बच्चों को शिक्षा देना शासन और प्रशासन के लिए एक चुनौती बन गया था. वैश्विक महामारी के कारण मार्च से लॉकडाउन है और स्कूलें बंद हैं. शासन- प्रशासन स्तर पर परंपरागत कक्षा, शिक्षण गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और शिक्षण व्यवस्था को बच्चों के घर-घर तक पहुंचाना, एक तरह से चैलेंज बन गया था. छत्तीसगढ़ सरकार ने इसे आसान बनाने के लिए 'पढ़ाई तुहर दुआर' योजना शुरू की जिसका असर रायगढ़ जिले में देखने को मिल रहा है. 

7 अप्रैल से 18 अगस्त तक की रिपोर्ट के अनुसार रायगढ़ जिला ऑनलाइन शिक्षा के मामले में वर्तमान में पूरे प्रदेश में टॉप पर है. रायगढ़ जिले में अब तक एक लाख 88 हजार 526 ऑनलाइन क्लास ली जा चुकी हैं. जिसमें 10 लाख 68 हजार 26 विद्यार्थी जुड़ चुके हैं. वहीं 3 लाख 62 हजार असाइनमेंट की जांच करने और लगभग दो हजार संदेश वालों का निराकरण में रायगढ़ जिला अव्वल रहा है. 

ये भी पढ़ें-कहीं बर्बाद न हो जाए बेटे का साल, पिता ने 85 किमी चलाई साइकिल, 15 मिनट पहले पहुंचा दिया परीक्षा केंद्र

प्रतिदिन 12066 बच्चों के गांव-घर-मोहल्लों तक शिक्षा पहुंचाई जा रही है. रायगढ़ जिले के कलेक्टर भीम सिंह ने बताया कि राज्य शासन की महत्वपूर्ण योजना 'पढ़ाई तुहर दुआर' योजना  के तहत ऑनलाइन क्लासेस शुरू की गई थी. जिसमें रायगढ़ जिला पहले स्थान पर रहा है. जिले में 55 हजार ऐसे विद्यार्थी हैं जिनके पास मोबाइल की सुविधा है. साथ ही जिले में ऐसे गांव जहां इंटरनेट की सुविधा नहीं है उन गांव में लाउडस्पीकर के माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाता है.

Wacth LIVE TV-