सार्क देशों से कोरोना से इलाज और बचाव का अनुभव साझा करेगा रायपुर AIIMS, प्रदेश में अब एक मरीज

 केंद्र सरकार ने दिल्ली के एम्स के साथ ही रायपुर के डॉक्टरों को शार्क देशों के चिकित्सक और वैज्ञानिकों के साथ कोरोना से बचाव और इलाज का तरीका साझा करने को कहा है. यह 13 से 20 अप्रैल के बीच ऑनलाइन वेबनायर के जरिए होगा. 

सार्क देशों से कोरोना से इलाज और बचाव का अनुभव साझा करेगा रायपुर AIIMS, प्रदेश में अब एक मरीज

रायपुर: छत्तीसगढ़ में कोरोना के पॉजिटिव मरीज धीरे-धीरे ठीक हो रहे हैं. डिस्चार्ज होकर घर जा रहे हैं. लोगों को ठीक करने में रायपुर एम्स सार्क देशों को अपना अनुभव बताएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कॉन्फ्रेंस के लिए दिल्ली एम्स के साथ ही रायपुर एम्स को भी किया शामिल. छत्तीसगढ़ में अब तक 10 कोरोना संक्रमितों में से 8 संक्रमित पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं.

सोमवार दोपहर को एक और मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया. अब प्रदेश में केवल एक पॉजिटिव मरीज है जिसका रायपुर एम्स में इलाज चल रहा है. 

एक ऐसी तकनीक जिसके जरिए एक साथ 5 मरीजों का होगा उपचार

इसी बात को लेकर केंद्र सरकार ने दिल्ली के एम्स के साथ ही रायपुर के डॉक्टरों को शार्क देशों के चिकित्सक और वैज्ञानिकों के साथ कोरोना से बचाव और इलाज का तरीका साझा करने को कहा है. यह 13 से 20 अप्रैल के बीच ऑनलाइन वेबनायर के जरिए होगा. कोरोना रोकथाम प्रबंधन में छत्तीसगढ़ को देशभर में सराहा गया है. रायपुर एम्स के अधीक्षक डॉ. करण पीपरे ने बताया कि इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. कोरोना से निपटने की तैयारियों पर वीडियो फॉर्मेट में दस्तावेज तैयार किए जा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ के सीएम बघेल ने छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के नियंत्रण के उपायों के संबंध में पीएम को पत्र भी लिखा था. पत्र में कहा था कि राज्य में 4 अप्रैल 2020 तक कुल 1590 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए थे, जिनमें से 1375 व्यक्ति के परिणाम नेगेटिव रहे हैं और 205 की जांच जारी है. जो 10 व्यक्ति कोविड-19 वायरस से पीड़ित पाए गए थे, उनमें से 8 ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं. वहीं बाकी बचे 2 मरीजों की हालत सामान्य बनी हुई है. राज्य में अभी तक कोविड-19 वायरस से एक भी मृत्यु नहीं हुई है और ना ही कोई गंभीर रूप से संक्रमित है.