close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रायपुरः नान घोटाले मामले में हिरासत में लिए गए चिंतामणि चंद्राकर, EOW की टीम कर रही है पूछताछ

नान घोटाले के मुख्य आरोपी शिवशंकर भट्ट ने नान मामले में शपथ पत्र  जारी किया है, जिसमें भट्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पुन्नुलाल मोहिले जैसे कई लोगों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है.

रायपुरः नान घोटाले मामले में हिरासत में लिए गए चिंतामणि चंद्राकर, EOW की टीम कर रही है पूछताछ
रमन सरकार में अकाउंट ऑफिसर थे चिंतामणि चंद्राकर (फाइल फोटो)

रायपुरः बहुचर्चित नान घोटाले मामले में ईओडब्लू की टीम ने अकाउंट ऑफिसर चिंतामणि चंद्राकर को हिरासत में ले लिया है. मिली जानकारी के मुताबिक ईओडब्ल्यू ने दुर्ग से चिंतामणि चंद्राकर को हिरासत में लिया है और राजधानी में उनसे नान और आय से अधिक संपत्ति के मामले में पूछताछ कर रही है. बीते दिनों ही ईओडबल्यू की टीम ने चिंतामणि चंद्राकर के कांकेर, बेंगलुरू और रायपुर स्थित कई ठिकानों पर छापा मारा था. चंद्राकर नागरिक आपूर्ति निगम के तत्कालीन अकाउंट ऑफिसर थे.

बता दें नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्ट ने नान मामले में शपथ पत्र  जारी किया है, जिसमें भट्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पुन्नुलाल मोहिले जैसे कई लोगों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. भट्ट का आरोप है कि तत्कालीन सरकार की ओर से दबावपूर्वक दस लाख टन चावल जबरन खरीदी कराई गई थी, जबकि नान के पास चावल का पर्याप्त स्टॉक था. राइस मिलरों को फायदा पहुंचाया गया, परिवारों से ज्यादा फर्जी राशन कार्ड बना. 72 लाख राशन कार्ड बनाए गए, हमने तभी कहा था कई लाख कार्ड फर्जी हैं, लेकिन सररकार ने चुनाव के कारण रद्द नहीं किए.

देखें लाइव टीवी

भट्ट ने 'नान घोटाले' मामले में पूर्व मुख्यमत्री रमन सिंह और उनके मंत्रीमंडल के सदस्यों पर आरोप लगाते हुए उन्हें इस घोटाले का मास्टरमाइंड बताया है. शिवशंकर भट्ट का कहना है कि, 'मेरे सामने 5 करोड़ के राशि के लेनदेन की बात हुई, कैश में पैसा चुनाव के वक्त बीजेपी कार्यालय में पहुंचाया गया.' वहीं रमन सिंह के आदतन अपराधी वाले बयान पर भट्ट ने कहा कि, 'मैं आदतन अपराधी नहीं हूं, चार माह रमन सिंह का OSD रहा, मुझे आदतन अपराधी कहने के मामले पर रमन सिंह के खिलाफ मानहानि का दावा करूंगा. वकील सलाह ले रहा हूं.'

Raipur: Chintamani Chandrakar detained in NAN scam case, EOW team is interrogating

अंतागढ़ टेपकांड मामले पर हमलावर हुई कांग्रेस, कहा- 'रमन, मूणत और जोगी छोड़ दें राजनीति'

शिवशंकर भट्ट ने आगे कहा कि, 'राशन कार्ड घोटाला छिपाने के लिए मुझ पर कारवाई की गई, ACB से नान पर छापा मारा गया, चार साल में मेरे परिवार के नौ लोगों की मौत हुई, मैंने स्वेच्छा से बयान दिया है, मेरे ऊपर किसी का दबाव नहीं है, मुझे सरकारी गवाह बनने के लिए कहा गया है, इसलिये मैं सरकारी गवाह बना हूं, उसके बाद शपथ पत्र दिया है.'