छत्तीसगढ़ राज्यसभा चुनाव: बीजेपी की मांग को चुनाव आयोग ने नकारा, अनिला भेड़िया की वोटिंग मान्य

कांग्रेस से निष्कासित मरवाही विधायक अमित जोगी (अजीत जोगी के बेट) और कांग्रेस के दो विधायक आरके राय और सियाराम कौशिक ने वोटिंग से पहले कहा कि कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया पहले अपने बयान को लेकर माफी मांगे, नहीं तो हम अपना वोट नहीं देंगे.

छत्तीसगढ़ राज्यसभा चुनाव: बीजेपी की मांग को चुनाव आयोग ने नकारा, अनिला भेड़िया की वोटिंग मान्य
जीत के लिए उम्मीदवारों को 46 वोटों की जरूरत. (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली/रायपुर: छत्तीसगढ़ की एक राज्यसभा सीट के लिए मतदान जारी है. बीजेपी की तरफ से सरोज पांडे और कांग्रेस की तरफ से लेखराम साहू मैदान में हैं. मतदान के शुरू होते ही बीजेपी ने कांग्रेस विधायक अनिला भेड़िया के मत पर आपत्ति जताई है.बीजेपी के पोलिंग एजेंट शिवरतन शर्मा ने कांग्रेस विधायक अनिला भेड़िया के मत पर आपत्ति जताई और निर्वाचन अधिकारियों से अनिला भेड़िया के मत को खारिज करने की मांग की.थी. निर्वाचन आयोग ने बीजेपी की मांग को खारिज करते हुए अनिला भेड़िया की वोटिंग को मान्य करार दिया है. बीजेपी का आरोप था कि वोट डालने के बाद उन्होंने हाथ उठाकर गुप्त मतदान का उल्लंघन किया है.

अनिला भेड़िया पर सार्वजनिक करने का आरोप
बीजेपी विधायक शिवरतन शर्मा ने निर्वाचन अधिकारियों से कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के तहत मतदाता केवल अपने पोलिंग एजेंट को ही मत दिखा सकता है. लेकिन, अनिला भेड़िया ने मत डालने के बाद अपना मत सार्वजनिक कर दिया. मैंने खुद उनका मत देखा है. इसको लेकर ही निर्वाचन अधिकारियों से शिकायत की गई है.

कांग्रेस के 2 विधायक समेत 3 विधायकों ने वोटिंग करने से मना किया
कांग्रेस से निष्कासित मरवाही विधायक अमित जोगी (अजीत जोगी के बेट) और कांग्रेस के दो विधायक आरके राय और सियाराम कौशिक ने वोटिंग से पहले कहा कि कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया पहले अपने बयान को लेकर माफी मांगे, नहीं तो हम अपना वोट नहीं देंगे. नाराज विधायकों ने कहा कि पीएल पुनिया ने छत्तीसगढ़िया का अपमान किया है. तीनों विधायकों ने कहा कि अगर, दोपहर 3:30 बजे तक पीएल पुनिया और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख, भूपेश बघेल की तरफ से माफीनामा नहीं आता है तो हम तीनों विधायक वोट नहीं डालेंगे. बता दें पीएल पुनिया ने अजीत जोगी को जयचंद कह दिया था.

PCC प्रमुख भूपेश बघेल को लिखी चिट्ठी, माफीनामा की मांग
माफीनामा को लेकर तीनों विधायकों ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को चिट्ठी लिखी है और कहा कि अभी भी समय है, माफी मांग लें. समर्थन देने के लिए हम तो पहले से तैयार हैं, लेकिन पीएल पुनिया ने हमारा और छत्तीसगढ़वासियों का अपमान किया है. इसलिए, उन्हें माफी मांग लेना चाहिए.

अजीत जोगी के बंगले पर तीनों विधायकों की बैठक
अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने कहा कि जो नेता लोकसभा चुनाव 2 लाख से ज्यादा वोटों से हार गया हो उस नेता के मुंह से ऐसी बयानबाजी अच्छी नहीं लगती है. आगे उन्होंने कहा, 'पीएल पुनिया जब एससी आयोग के अध्यक्ष थे तो उन्होंने सतनामी को चमार श्रेणी से नहीं हटाया, और अब अपमान कर रहे हैं.' फिलहाल, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रमुख अजीत जोगी के बंगले पर तीनों विधायकों की बैठक जारी है. तीनों विधायकों के साथ-साथ अजीत जोगी भी मौजूद हैं. जी न्यूज से खास बातचीत में अजीत जोगी ने कहा कि हमारे विधायकों का स्टैंड बिल्कुल सही है. पीएल पुनिया ने जयचंद कह कह मेरा और छत्तसीगढ़वासियों का अपमान किया है.

पढ़ें: राज्यसभा चुनाव 2018 : सपा उम्मीदवार को वोट देंगे राजा भैया, अखिलेश बोले -'थैंक यू'

शाम 5 बजे शुरू होगी मतगणना
मतदान प्रक्रिया आज सुबह 9 बजे शुरू हुई जो शाम 4 बजे तक चलेगी. मतगणना 5 बजे शाम को शुरू होगी. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने पहला वोट डाला. उनके बाद देवकी कर्मा ने मतदान किया.  मतदान प्रक्रिया में प्रदेश के सभी 90 विधायक शामिल हो रहे हैं. छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की सीट के लिए प्रत्याशियों को 46 वोटों की जरूरत है. बीजेपी के पास पर्याप्त संख्याबल है. बीजेपी के 49 विधायक हैं, जबकि उसे निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा का भी समर्थन हासिल है. विधानसभा में कांग्रेस के 39 विधायक हैं, लेकिन कांग्रेस प्रत्याशी लेखराम साहू ने दावा किया है कि बीजेपी के कुछ विधायकों ने समर्थन का आश्वासन दिया है. ऐसे में वे भी जीत का दावा कर रहे हैं. क्रॉस वोटिंग को रोकने के मकसद से मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने सभी विधायकों को एक साथ लेकर विधानसभा पहुंचे.