पत्नी और सौतेले बेटे ने की थी शख्स की हत्या, 2 साल बाद सुलझी हत्या की गुत्थी

आरोपी महिला के चार बच्चे हैं. जिसने पहले पति को छोड़कर मृतक विमल वाल्मीकि से नोटरी के समक्ष शादी की थी. विमल शराब के नशे में अक्सर उसके साथ मारपीट करता था.  यही वजह है कि आरोपी महिला ने अपने नाबालिग पुत्र के साथ मिलकर पति विमल की हत्या कर दी. 

पत्नी और सौतेले बेटे ने की थी शख्स की हत्या, 2 साल बाद सुलझी हत्या की गुत्थी
पुलिस गिरफ्त में आरोपी महिला

नीलम पड़वार/कोरबा: कोरबा की रामपुर पुलिस ने दो साल पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली है. 8 नवंबर 2019 को पथर्रीपारा निवासी विमल वाल्मिकी की हत्या पत्नी सुशीला केवट और सौतेले नाबालिग पुत्र ने ही गला दबाकर की थी. पुलिस को चकमा देने गुम इंसान के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी. यही नहीं साक्ष्य छुपाने की नीयत से आरोपी महिला और उसके बेटे ने शव को काफी पेंट के जंगल में खाई में फेंक दिया था. गुत्थी सुलझाने के बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी और उसके सौतेले नाबालिग पुत्र को गिरफ्तार किया है. हत्या की वजह से आरोपी महिला ने मृतक विमल वाल्मीकि द्वारा शराब के नशे में मारपीट करना बताया था.

दरअसल, आरोपी महिला के चार बच्चे हैं. जिसने पहले पति को छोड़कर मृतक विमल वाल्मीकि से नोटरी के समक्ष शादी की थी. विमल शराब के नशे में अक्सर उसके साथ मारपीट करता था.  यही वजह है कि आरोपी महिला ने अपने नाबालिग पुत्र के साथ मिलकर पति विमल की हत्या कर दी. सबूत मिटाने की मंशा से दोनों ने ललित कुमार घोसले नामक व्यक्ति को फोन कर पिकनिक जाने के लिए कार बुक की. इसके बाद वारदात के अगली सुबह कार पथर्रीपारा पहुंची. इस दौरान दोनों ने चालक को चकमा देकर विमल की लाश चटाई में छिपाकर कार में रख दी. फिर सभी कॉफी पाइंट चले गए. इस दौरान सुशीला ने बहाना बनाकर चालक को गाड़ी से कुछ दूर जाने को कहा. दोनों गाड़ी से लाश बाहर निकाल ही रहे थे कि चालक की नजर पड़ गई और उसने विरोध किया.

मंदसौर में जान पर बन आया जहरीला जाम, तीन की मौत दो की हालत बेहद गंभीर

सुशीला और उसके पुत्र ने ललित को जान से मारने की धमकी दी और उसका मुंह बंद करा दिया. लाश को कॉफी पॉइंट से खाई से नीचे फेंक दिया, लेकिन उन्हें क्या पता था कि ललित एक दिन अपना मुंह खोल देगा और वो पकड़े जाएंगे. 24 जुलाई 2021 को 2 वर्ष बाद ललित ने पुलिस को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया जिसके बाद पुलिस ने मौके से मृतक का नरकंकाल बरामद किया फिर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. एसपी भोजराम ने बताया कि 2 वर्ष पूर्व हुए विमल वाल्मीकि की हत्या को सुलझाने में टीम को मेहनत करनी पड़ी. वारदात के सुलझाने से उत्साहित एसपी ने पुलिस टीम को पांच हजार रुपए ईनाम देने की घोषणा भी की है.

WATCH LIVE TV