close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजनांदगांवः सड़क हादसे का शिकार हुई कार, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौत

सुबह के करीब 7 बजे कार नेशनल हाइवे में सोमनी के पास अनियंत्रित होकर एक ट्रक से टकरा गई.

राजनांदगांवः सड़क हादसे का शिकार हुई कार, एक ही परिवार के 10 लोगों की मौत
फोटो साभारः ANI

राजनांदगांवः छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में रविवार की अल-सुबह एक कार भीषण हादसे का शिकार हो गई. हादसे में जहां एक ही परिवार के 10 लोगों की मौत हो गई तो वहीं 2 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. मिली जानकारी के मुताबिक यह पूरा परिवार भिलाई का रहने वाला है और नवरात्रि के चलते परिवार डोंगरगढ़ से मां बम्लेश्वरी के दर्शन कर वापस लौट रहा था कि तभी कार हादसे का शिकार हो गई. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सुबह के करीब 7 बजे यह कार नेशनल हाइवे में सोमनी के पास अनियंत्रित होकर एक ट्रक से टकरा गई. हादसा इतना भीषण था कि कार में बैठे 12 में से 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि अन्य 2 घायलों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

एक ही परिवार के सात लोगों की मौत
घटना स्थल पर पहुंची पुलिस के मुताबिक गाड़ी में सवार सभी लोग डोंगरगढ़ मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने पहुंचे थे. तभी दर्शन कर वापस लौटते वक्त वाहन क्रमांक CG 07-BM-5880 की सामने से आ रहे ट्रक से टक्कर हो गई. कार की ट्रक से टक्कर इतना भयानक था कि कार के परखच्चे उड़ गए. वहीं वाहन में बैठे 10 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक सभी मृतक एक ही परिवार के सदस्य हैं और भिलाई के रहने वाले हैं. वहीं घटनाग्रस्त वाहन के पीछे से ही एक दूसरे वाहन में भी मृतक के परिजन आ रहे थे. जिन्होंने हादसे के बाद मौके पर काफी हंगामा मचाया. जिसके बाद काफी मशक्कत के बाद उन्हें शांत कराया जा सका.

छत्तीसगढ़: लिफ्ट मांगना युवती को पड़ा महंगा, सड़क हादसे में हुई मौत

मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने पहुंचा था परिवार
बता दें नवरात्रि के दौरान भारी मात्रा में श्रद्धालु मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने के लिए राजनांदगांव के डोंगरगढ़ पहुंचते हैं. नवरात्र के दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ देखते हुए प्रशासन ने यहां एक तरफ की रोड पूरी तरह से खाली करा दी है जबकि एक तरफ की रोड से गाड़ियों की आवाजाही लगी रहती है, लेकिन रोड की चौड़ाई ज्यादा न होने से वाहन चालकों को इस रोड पर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. सुप्रीम कोर्ट के नियमों पर अनजर डालें तो नेशनल हाईवे को बाधित किया जाना नियम विरुद्ध है.