close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रतलामः राम मंदिर पर फैसले से पहले प्रशासन सतर्क, जिले में धारा 144 लागू

राम मंदिर (Ram Mandir) पर फैसले की घड़ी नजदीक आने के साथ ही रतलाम (Ratlam) में सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम चाक चौबंद कर दिये गए हैं. फैसले के बाद किसी तरह से माहौल खराब न हो उसके लिए सुरक्षा एजेंसियों के साथ प्रशासनिक अमला भी सर्तक हो गया है.

रतलामः राम मंदिर पर फैसले से पहले प्रशासन सतर्क, जिले में धारा 144 लागू
रतलाम में धारा 144 लागू की गई है (फाइल फोटो)

रतलामः राम मंदिर (Ram Mandir) पर फैसले की घड़ी नजदीक आने के साथ ही रतलाम (Ratlam) में सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम चाक चौबंद कर दिये गए हैं. फैसले के बाद किसी तरह से माहौल खराब न हो उसके लिए सुरक्षा एजेंसियों के साथ प्रशासनिक अमला भी सर्तक हो गया है. कलेक्टर ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है शांति बनाए रखने के लिए आदेश जारी किये हैं.

रतलाम में बिना प्रशासन की अनुमति के किसी भी तरह के धार्मिक, सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक आयोजन नहीं किये जाएंगे. हालांकि जन्मदिन, वर्षगांठ और शादी के लिये ये आदेश लागू नहीं हैं. इसके अलावा प्रशासन और पुलिस ने अगल अगल इलाकों में जनसंवाद के कार्यक्रम भी शुरू कर दिये हैं और लगों से आपसी सौहार्दय बनाए की अपील की जा रही है.

देखें LIVE TV

दुबई दौरे पर रवाना हुए CM कमलनाथ, बिजनेस लीडरशिप फोरम में होंगे शामिल

बता दें इससे पहले राजधानी भोपाल में जिला दंडाधिकारी भोपाल तरुण पिथोड़े ने भी बीते मंगलवार को वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जिले में सोशल प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सअप, फेसबुक, इंस्ट्राग्राम, ग्रुप एसएमएस, और अन्य सोशल प्लेट फॉर्म पर आपत्तिजनक संदेश, चित्र, किसी समुदाय, धर्म, संप्रदाय के विरुद्ध आपत्तिजनक, भड़काऊ, टिप्पणी करने वीडियो, चित्र, संदेश भेजने पर प्रतिबंध लगा दिया है.

कमलनाथ सरकार की आरक्षण नीति के खिलाफ आज भोपाल में रैली करेगी सपाक्स पार्टी

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री पिथोडे ने धारा 144 में आदेश जारी कर जिले में सोशल मीडिया में किसी समुदाय, सम्प्रदाय, धर्म या व्यक्ति के विरुद्ध गलत टिप्पणी, फोटो, वीडियो डाले जाने पर उसकी जिम्मेदारी ग्रुप एडमिन की होगी. अगर किसी व्हाट्सअप, फेस बुक, इंस्टाग्राम, मैसेंजर जैसे  अन्य सोशल प्लेटफॉर्म पर गलत टिप्पणी और अन्य सामग्री भेजी जाती है, तो इसकी जानकारी तुरंत ही पुलिस को देना होगी.