रात को रामलीला देख रहे थे 300 लोग, पुलिस रोकने गई तो बरसा दिए पत्थर, 2 पुलिसकर्मी घायल

रतलाम के आलोट में रामलीला बंद कराने गई पुलिस पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. 

रात को रामलीला देख रहे थे 300 लोग, पुलिस रोकने गई तो बरसा दिए पत्थर, 2 पुलिसकर्मी घायल
पुलिसकर्मियों पर पथराव...

रतलाम: मध्य प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा है. इसके बाद भी कुछ लोग लापरवाही से बाज नहीं आ रहे. ताजा मामला रतलाम के आलोट से सामने आया है. जहां बीती रात रामलीला बंद कराने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया. इस दौरान डायल 100 के चालक सहित दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. 

दरअसल, डायल 100 को सूचना मिली थी कि आलोट से 10 किलोमीटर दूर बड़रिया राठौर गांव में लॉकडाउन में रामलीला चल रही है, जिसमें करीब 300 लोग मौजूद हैं. मौके पर पहुंची और ग्रामीणों से रामलीला बंद करने को कहा तोउन्हों रामलीला बंद करने से इनकार कर दिया. फिर जब पुलिस ने दबाव बढ़ाया तो नाराज ग्रामीणों ने लाइट बंद कर पुलिसकर्मियों पर पथराव कर दिया. 

13 नामजद और 25 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज, 2 गिरफ्तार
पथराव के दौरान सहायक उप निरीक्षक आरसी गौड़, आरक्षक विक्रम चौधरी और वाहन चालक अशोक चौहान घायल हो गए हैं. जिसके बाद घायल पुलिसकर्मियी ने आलोट पुलिस को हमले की सूचना दी. बाद में मौके पर पहुंचे पुलिस बल ने मामला शांत कराया और ग्राणीमों को खदेड़ दिया. घटना के बाद पुलिस ने 13 नामजद और 25 अन्य लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है, जबकि दो आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं.

ये भी पढ़ें: Heart Touching: एक बेटी की मां को अंतिम विदाई, व्यथा सुन रोने पर मजबूर हो जाएंगे आप

ये भी पढ़ें: जब शादी समारोह में बिन बुलाए पहुंच गए कलेक्टर 'शिवराज सिंह', सकते में आ गए घराती-बाराती

WATCH LIVE TV