close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से होशंगाबाद में जारी हुआ रेड अलर्ट, खाली कराए गए निचले इलाके

नर्मदा नदी के किनारों पर अब तक कोई सुरक्षाकर्मी तैनात नहीं किए गए हैं, जबकि बढ़ते पानी को देखने वालों की भीड़ नर्मदा घाट पर लगातार बढ़ती जा रही है.

नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से होशंगाबाद में जारी हुआ रेड अलर्ट, खाली कराए गए निचले इलाके
भारी बारिश के चलते नदियों का जलस्तर खतरे के निशान तक जा पहुंचा है. (फाइल फोटो)

भोपालः भारी बारिश के चलते होशंगाबाद में बाढ़ के हालात निर्मित हो गए हैं. नर्मदा नदी खतरे के निशान पर बह रही है, बाढ़ की स्थिति में उफनती नर्मदा के पानी में खतरनाक बहाव है, लेकिन इस खतरनाक पानी के बहाव में भी स्थानीय बच्चे मंदिरों के ऊपर से पानी में छलांग लगा रहे हैं. स्थिति इतनी खतरनाक है, पर सुरक्षा के लिहाज़ से यहां कोई प्रबंध अभी तक दिखाई नहीं देते नर्मदा नदी के किनारों पर अब तक कोई सुरक्षाकर्मी तैनात नहीं किए गए हैं, जबकि बढ़ते पानी को देखने वालों की भीड़ नर्मदा घाट पर लगातार बढ़ती जा रही है.

उफनती नर्मदा खतरे के निशान पर आने के साथ ही रौद्र रूप लिए हुए है. वहीं छोटे-छोटे बच्चे मंदिर के ऊपर से नर्मदा के बहते पानी में छलांग लगा रहे हैं. छोटी सी चूक में इनकी जिंदगी जा सकती है, पर लगातार यह बच्चे उफनती नर्मदा में छलांग लगा रहे हैं. बड़ी बात तो यह है कि नर्मदा खतरे के निशान पर बह रही है और लगातार नर्मदा का जल स्तर बढ़ रहा है, पर कोई भी सुरक्षा कर्मियों की तैनाती अब तक यहां नहीं की गई है. प्रशासन की और से यह लापरवाही नर्मदा किनारे पर किसी घटना को अंजाम दे सकती है.

देखें लाइव टीवी

बता दें 24 घंटे से जारी बारिश से नर्मदा नदी उफान पर आ गई है. नदी का जलस्तर खतरे के निशान से महज एक फिट नीचे है. तवा नदी सहित नर्मदा की सभी सहायक नदियां में तेजी से स्तर बढ़ने के कारण जिले में बाढ़ की स्थिति बन गई है. पुल पुलिया ओर रपट पर पानी आने से दर्जनों गावों का मुख्यालय से सड़क संपर्क टूट गया है. शहरी इलाकों में नर्मदा का बैक वॉटर आने की संभावनाओं को लेकर निचले इलाके खाली कराए जा रहे हैं.

सावधान... मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, आज इन 10 राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

लोगो को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है. प्रशासन ने बाढ़ पीड़ितों के लिए सरकारी स्कूलों, पंचायत भवनों ओर सामुदायिक भवनों में राहत शिविर बनाये गए हैं. लगतार नर्मदा का जलस्तर बढ़ता जा रहा है, जो कि रात 8 बजे तक 963.5 पर पर थम गया है. दरअसल, नर्मदा नदी में तवा डैम, बरगी डैम का पानी छोड़ दिया गया है, जिसके चलते नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ गया है. शाम होते होते ही नर्मदा नदी का जलस्तर 963.5 पर पहुंच गया है. लगातार होती बारीश से मुख्यालय का हरदा और बैतूल जिले से जिले से भी संपर्क टूट गया है. वहीं करीब 1 दर्जन से अधिक गांव का भी शहर से संपर्क टूट गया है. पुलिस और होमगार्ड के जवानों ने को सभी जगह पर तैनात किया हुआ है.