MP लौटे श्रमिकों को रोजगार देने के लिए सर्वे आज से शुरू, 3 जून तक चलेगा रजिस्ट्रेशन

श्रमिकों का सर्वे, वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन का अभियान आज से 3 जून तक चलेगा. राज्य सरकार द्वारा सभी जिलों के कलेक्टर्स को कार्य योजना भेज दी गई है. श्रमिकों के सर्वे का कार्य ग्राम पंचायतों में सचिव, रोजगार सहायक द्वारा किया जाएगा. 

MP लौटे श्रमिकों को रोजगार देने के लिए सर्वे आज से शुरू, 3 जून तक चलेगा रजिस्ट्रेशन
सांकेतिक तस्वीर

भोपाल: मध्यप्रदेश वापस आए सभी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए आज से सर्वे शुरू हो रहा है. 1 मार्च के बाद से जो भी श्रमिक वापस लौटे हैं, उन सभी श्रमिकों का सर्वे किया जाएगा. उसके बाद उन्हें रोजगार के साथ ही संबल योजना से भी जोड़ा जाएगा.

बता दें कि श्रमिकों का सर्वे, वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन का अभियान आज से 3 जून तक चलेगा. राज्य सरकार द्वारा सभी जिलों के कलेक्टर्स को कार्य योजना भेज दी गई है. श्रमिकों के सर्वे का कार्य ग्राम पंचायतों में सचिव, रोजगार सहायक द्वारा किया जाएगा. वहीं नगरीय क्षेत्रों में वार्ड प्रभारी एनआईसी (NIC) द्वारा बनाई गई मोबाइल एप के माध्यम से किया जाएगा. 

ये भी पढ़ें-छत्तीसगढ़ में टूटा कोरोना का रिकॉर्ड, एक दिन में सामने आए 69 मरीज

ये मोबाइल एप संबल पोर्टल में एवं गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है. संबल पोर्टल में इस कार्य के लिये 'प्रवासी श्रमिक प्रबंधन प्रणाली' को बनाया गया है, जिसका इस्तेमाल किया जा सकेगा.

आपको बता दें कि जो प्रवासी श्रमिक मध्यप्रदेश के मूल निवासी हैं, पर उनके पास सारे कागजात (आईडी प्रूफ) नहीं है. उन सभी की आईडी निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार पोर्टल पर जनरेट की जाएगी. इसके बाद ही इन श्रमिकों का सर्वे,  वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन कार्य पोर्टल पर सारे कागजात (आईडी प्रूफ) का उल्लेख करते हुए सुनिश्चित किया जाएगा.

जारी निर्देश अनुसार पोर्टल पर आईडी प्रूफ और आधार कार्ड नंबर अंकित किया जाना अनिवार्य होगा. सर्वे,  वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन उन्हीं श्रमिकों का किया जायेगा जो 'मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना' अथवा 'भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल' में पंजीयन की पात्रता रखते हैं.

पात्र प्रवासी श्रमिकों से निर्धारित सर्वे फार्म में जानकारी प्राप्त की जाएगी. इन सभी जानकारियों को 3 जून 2020 के पहले पोर्टल पर अपलोड करने और सर्वे फार्म को रिकार्ड में सुरक्षित रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं. 

सभी ग्राम पंचायत के सचिव और नगरीय क्षेत्रों में वार्ड प्रभारी सर्वे फार्म भरने में आवेदक को सहायता करेंगे. जिला कलेक्टर के देखरेख में ही यह सारी कार्य किए जाएंगे. 

Watch LIVE TV-