दोस्त से मिलने गई थी किशोरी, गुस्साए रिश्तेदारों ने पहले मारा-पीटा फिर काट दिए सिर के बाल

डाबड़ी गांव में हुई थी यह घटना. वीडियो वारल होने के बाद 27 फरवरी की रात को आरोपियों पर एफआईआर दर्ज की गई. 28 फरवरी को मामले के चार में से तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

दोस्त से मिलने गई थी किशोरी, गुस्साए रिश्तेदारों ने पहले मारा-पीटा फिर काट दिए सिर के बाल
लड़की के चाचा ने काटे थे बाल

कुलदीप सिंह/अलीराजपुर: सोंडवा थाना क्षेत्र के डाबड़ी गांव में रिश्तेदारों ने एक किशोरी के सिर के बाल काट दिए. किशोरी का कसूर सिर्फ इतना था कि उसकी एक युवक से दोस्ती थी और वह उससे मिलने चली गई थी. इस मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. 

मामला 25 फरवरी है. वीडियो वारल होने के बाद 27 फरवरी की रात को आरोपियों पर एफआईआर दर्ज की गई. 28 फरवरी को मामले के चार में से तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. 27 फरवरी की रात को डाबड़ी गांव की है एक किशोरी अपने मां-बाप के साथ थाने पहुंची और एफआईआर दर्ज करवाई कि उसके साथ गांव के कुछ रिश्तेदारों ने एक युवक के साथ कथित दोस्ती को उसकी चरित्रहीनता घोषित करते हुए उसे मारा-पीटा और उसके सिर के बाल काटकर उसे जान से मार देने धमकी दी थी. यह वारदात जिला मुख्यालय अलीराजपुर से 23 किलोमीटर डाबड़ी गांव के होली फलिया में हुई.

MP: सड़क हादसे में घायलों को निजी अस्पताल में मिलेगा मुफ्त इलाज, सरकार ने तैयार की ये स्कीम

पुलिस के अनुसार किशोरी ने बयान में बताया कि वह विगत वर्ष मजदूरी करने गुजरात गई थी, जहां उसकी दोस्ती अलीराजपुर जिले के ही सुमनियावाट गांव के भंगड़िया नामक युवक से हो गई थी. 25 फरवरी को जब वह अपने गांव डाबड़ी में थी तब भंगड़िया ने उसे फोन कर अलीराजपुर बस स्टैंड पर मिलने बुलाया था. वह बस स्टैंड पर पहुंचकर उसका इंतजार कर रही थी, तभी रिश्ते के उसके चाचा व कुछ अन्य परिजन आ गए और उसे जबरन गांव ले आए और फिर एक सार्वजनिक स्थल पर कैंची से उसके चाचा ने उसके बाल उतारे और रिश्ते के दूर के भाई ने कटे बालों का गुच्छा उसकी कमीज के अंदर डाल दिया.

एसडीओपी धीरज बब्बर के मुताबिक पीड़िता रोती रही, लेकिन परिजन उसे चरित्रहीन घोषित कर प्रताड़ित करते रहे. इस घटना का एक आरोपी ने वीडियो भी बना लिया. इसे वाट्सएप ग्रुप में वायरल भी कर दिया था. मामले के सभी आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 011/2020 धारा 294, 323, 354(क) (1)(आईवी) 506, 34 लैंगिंग अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 धारा 7 एवं 8 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. चौथे आरोपी की तलाश जारी है.