close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP के इस पुलिस डॉग के नाम से ही कांप जाते थे बदमाश, अब हुआ रिटायर

मध्य प्रदेश के बैतूल स्थित डॉग स्कवॉड में पदस्थ जॉन को इस मौके पर भावपूर्ण विदाई दी गई. जॉन अब नागपुर के एक एनजीओ की देखरेख में रहेगा.

MP के इस पुलिस डॉग के नाम से ही कांप जाते थे बदमाश, अब हुआ रिटायर
9 साल दस माह की सेवा देने वाले जॉन ने अपनी सेवा में कई एवार्ड अपने नाम किये.

इरशाद हिंदुस्तानी/बैतूल: मध्य प्रदेश के बैतूल में सोमवार को आरपीएफ के डॉग स्कवॉ़ड का सबसे चर्चित स्निफर डॉग रिटायर हो गया. आरपीएफ अधिकारियों ने बताया कि इस डॉग की कॉमनवेल्थ गेम और कुंभ मेले के दौरान भी सेवाएं लगी गई थीं. उन्होंने बताया कि इस डॉग ने कई उठाईगीर, बदमाशों और नशा बेचने वालों की नाक में दम कर रखा था. वहीं, अब बैतूल आरपीएफ में पदस्थ रहा ये स्निफर डॉग जॉन आज अपनी शासकीय सेवा से रिटायर हो गया.
 
मध्य प्रदेश के बैतूल स्थित डॉग स्कवॉड में पदस्थ जॉन को इस मौके पर भावपूर्ण विदाई दी गई. जॉन अब नागपुर के एक एनजीओ की देखरेख में रहेगा. 9 साल दस माह की सेवा देने वाले जॉन ने अपनी सेवा में कई एवार्ड अपने नाम किये. कई प्रशस्ति पत्र से अफसरों ने उसके काम की सराहना की. स्क्वॉड के मास्टर जीएस सल्लाम के मुताबिक, कॉमनवेल्थ गेम एक्सप्रेस हो या फिर कुंभ मेला या फिर रेलवे स्टेशनों पर नशीले पदार्थ बेचने वाले. हर कहीं जॉन ने अपने हुनर का जौहर दिखाया.

 

 

इधर एनिमल वेलफेयर से जुड़े आफिसर मानते हैं कि जिसने लाखों लोगों के जान-माल की सुरक्षा के लिए अपना जीवन लगा दिया. उसे रिटायरमेंट के बाद उपेक्षित कर दिया जाता है. रिटायरमेंट के बाद उसकी देखभाल, पेंशन, ग्रेज्युटी का इन्तजाम सरकार की ओर से किया जाना चाहिए.