close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: महिला पुलिसकर्मी ने लगाया छेड़खानी का आरोप, कहा- कमिश्नर का भतीजा है आरोपी

एसपी कार्यालय के चक्कर काट रही यह युवती जेल विभाग मे पदस्थ जेल प्रहरी है. 

MP: महिला पुलिसकर्मी ने लगाया छेड़खानी का आरोप, कहा- कमिश्नर का भतीजा है आरोपी
युवती का आरोप है कि आरोपी चंबल कमिश्नर रेनू तिवारी के भतीजे है, इसलिए पुलिस इन पर कार्रवाई नहीं कर रही है.

अतुल अग्रवाल/सागर: मध्य प्रदेश के सागर में पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर जेल विभाग में पदस्थ एक युवती ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. छेड़खानी जैसे संगीन मामले में युवती के शिकायत दर्ज कराने के बाद भी पुलिस द्वारा अब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किए जाने के कारण युवती मानसिक रुप से परेशान है. युवती का कहना है कि आरोपियों द्वारा उसे लगातार फोन पर धमकी देकर प्रताड़ित किया जा रहा है.

इससे परेशान युवती न्याय की आस लिए पुलिस के आला अधिकारियों के चक्कर काटने मजबूर है, पर उसकी कोई सुनवाई नही हो रही है. युवती का आरोप है कि आरोपी चंबल कमिश्नर रेनू तिवारी के भतीजे है, इसलिए पुलिस इन पर कार्रवाई नहीं कर रही है.

एसपी कार्यालय के चक्कर काट रही यह युवती जेल विभाग मे पदस्थ जेल प्रहरी है. युवती‌ का आरोप है कि 6 जून को मुरैना के रहने वाले रवि शर्मा, अवधेश शर्मा और रामनिवास शर्मा द्वारा एक मामले मे सागर विश्वविद्यालय के पास उसे चर्चा के लिए बुलाया गया था. जहां कुछ दूरी पर एकांत में ले जाकर आरोपी द्वारा युवती से दुर्व्यवहार कर छेड़छाड़ की घटना को अंजाम देते हुए जान से मारने की धमकी दी गई. युवती इस घटना से इतनी डर गई थी कि उसने डर के कारण किसी को कुछ नही बताया. लेकिन, आरोपियों द्वारा लगातार उसे अलग-अलग नंबर से फोन कर घटना को लेकर धमकाना जारी रहा.

 

जिसके चलते उसने अपने मंगेतर को इसकी जानकारी देते हुए कुछ दिनों बाद घटना की रिपोर्ट का आवेदन थाना सिविल लाइन मे दिया, जिस पर रिपोर्ट नही लिखी गई. इसके बाद इस मामले में आईजी के पास गुहार लगाने के बाद सिविल लाइन थाना पुलिस द्वारा 3 जुलाई को आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला तो कायम कर लिया गया. लेकिन, विवेचना के नाम पर पुलिस द्वारा टालमटोल कर अब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.

पीड़िता ने इस मामले में पुलिस पर दबाव के तहत आरोपियों पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. पीड़िता के मुताबिक इस मामले में आरोपियों में से एक व्यक्ति चंबल रेंज की कमिश्नर रेनू तिवारी का रिश्तेदार है. जिसके कारण पुलिस इस मामले में कार्रवाई करने से किनारा कर रही है. वहीं, इस मामले में एडिशनल एसपी राजेश व्यास ने युवती के पुलिस पर दबाव के तहत कार्रवाई नहीं करने के लगाए जा रहे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया. उनका कहना है कि मामले में पुलिस की विवेचना जारी है. जल्द ही इस मामले मे नियमानुसार कार्रवाई होगी.