लक्ष्मण सिंह के बयान पर सज्जन सिंह का पलटवार, BJP ने कांग्रेस को बताया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी

दिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के बयान को लेकर पार्टी के ही एक ने नेता पलटवार किया है. पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने लक्ष्मण सिंह को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा कि वे राम के छोटे भाई लक्ष्मण हैं, लेकिन यह आधुनिक युग के लक्ष्मण हैं.

लक्ष्मण सिंह के बयान पर सज्जन सिंह का पलटवार, BJP ने कांग्रेस को बताया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी
कांग्रेस नेता लक्ष्मण सिंह और सज्जन सिंह वर्मा (फाइल फोटो)

भोपाल : दिग्विजय सिंह के भाई और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के बयान को लेकर पार्टी के ही नेता उनपर पलटवार किया है. पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने लक्ष्मण सिंह को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा कि वे राम के छोटे भाई लक्ष्मण हैं, लेकिन यह आधुनिक युग के लक्ष्मण हैं. इसी के साथ उन्होंने कहा कि भगवान राम और लक्ष्मण त्रेता युग में पैदा हुए थे. कलियुग में इस तरह के लोग भी पैदा हो रहे हैं. जो अपने पुरखों और वरिष्ठों पर सवाल खड़े कर रहे हैं.

वहीं कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के बयान पर बीजेपी ने भी चुटकी ली है. मामले में नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि कांग्रेस, पार्टी नहीं बल्कि एक गिरोह है और प्राइवेट लिमिटेड कंपनी है. हर गिरोह के अपने सरगना है सरगनाओं के इशारे पर गिरोह काम करते हैं.

ये भी पढ़ें : कांग्रेस के 'राम राग' पर दिग्गी के भाई लक्ष्मण सिंह का तंज, बोले- जय श्री राम से नहीं मिलेंगे वोट 

आपको बता दें कि लक्ष्मण सिंह ने कांग्रेस के शुद्धिकरण और हनुमान चालीसा का पाठ करने को लेकर अपनी ही पार्टी को घेरा था. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस पार्टी सही मुद्दों को उठाती है, नेता सही मुद्दों पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं .धार्मिक मुद्दों से हटकर शुद्धिकरण और जय श्री राम कांग्रेस करेगी तो पार्टी का वोट नहीं बढ़ेगा. विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा, ''हमें केवल दल बदल, विकास और जनता से जुड़े मुद्दों को उठाना चाहिए. उनको हम उठाएंगे तो निश्चित है परिणाम अच्छे होंगे.''

ऐसा पहली बार नहीं है जब लक्ष्मण सिंह ने पार्टी लाइन से अलग जाकर बयान दिया हो. इससे पहले उन्होंने कहा था कि हम कांग्रेस के साथी भाजपा, संघ की विचारधारा को निरन्तर कोसते हैं, मैं भी उनकी विचार धारा से सहमत नहीं हूं, परंतु कांग्रेस की विचार धारा कहां लुप्त हो गई कि चुनाव में हमें "दुष्ट' तांत्रिक बाबाओं की मदद लेनी पड़ रही है?

WATCH LIVE TVE: