BJP के वरिष्ठ नेता ने विजयवर्गीय पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- उपचुनाव में पार्टी को हरवाना चाहते हैं

बकौल शेखावत, ''सिंधिया ने मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव में दो बार कैलाश को हराया है. कैलाश विजयवर्गीय इस हार का बदला लेना चाहते हैं. इसलिए सिंधिया सम​र्थकों के सीट के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय बने हैं.''

BJP के वरिष्ठ नेता ने विजयवर्गीय पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- उपचुनाव में पार्टी को हरवाना चाहते हैं
भंवर सिंह शेखावत (L), कैलाश विजयवर्गीय (R).

इंदौर: भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक और वरिष्ठ नेता भंवर सिंह शेखावत ने राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. भंवर सिंह शेखावत ने कैलाश विजयवर्गीय पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि ​कैलाश विजयवर्गीय और ज्योतिरादित्य सिंधिया की पुरानी अदावत (शत्रुता) है.

बकौल शेखावत, ''सिंधिया ने मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के चुनाव में दो बार कैलाश को हराया है. कैलाश विजयवर्गीय इस हार का बदला लेना चाहते हैं. इसलिए सिंधिया सम​र्थकों के सीट के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय बने हैं.'' भंवर सिंह शेखावत ने आरोप लगाया कि कैलाश विजय​वर्गीय उपचुनाव में पार्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए काम कर रहे हैं.

कोरोना काल में बिगड़ी अर्थव्यवस्था, मध्यप्रदेश सरकार के राजस्व में आई भारी गिरावट

भंवर सिं​ह शेखावत कहा, ''मैंने सुना है कि वह (कैलाश विजयवर्गीय) शिवराज को हटाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते थे. नहीं बन पाए. इसलिए 2018 में कई विधानसभा सीटों पर पैसा देकर भाजपा के खिलाफ निर्दलीय प्रत्याशी उतारे. बदनावर में राजेश अग्रवाल को मेरे खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने ही पैसा दिया था. ताई (सुमित्रा महाजन) और भाई (कैलाश विजयवर्गीय) इंदौर को अपनी ग्रिप में रखना चाहते हैं. इसलिए मुझे और उषा ठाकुर को इंदौर की राजनीति से बाहर किया है.''

शेखावत ने विजयवर्गीय पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, ''उन्होंने अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय को इंदौर से चुनाव लड़ाने के लिए उषा ठाकुर को महू भेजा. मुझे और उषा ठाकुर को इंदौर की राजनीति से बाहर किया. पार्टी फोरम पर मैंने अपनी बात रखी है. समय रहते कदम नहीं उठाया तो गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकते हैं.'' वहीं, मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने इस मामले में कहा कि भंवर सिंह शेखावत हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेता है. यह हमारे घर का मामला है, हम घर में बैठ कर सुलझाएंगे.

WATCH LIVE TV