आसान पॉइंट्स में समझिए, शिवराज सरकार के सेस टैक्स घटाने का कैसे मिलेगा फायदा?

इस टैक्स को लगाने का उद्येश्य पूरा हो जाता है तो इसकी वसूली भी बंद कर दी जाती है. सेस को लगाने का विशेष उद्येश्य किसी सेवा या क्षेत्र को विकसित करना होता है.

आसान पॉइंट्स में समझिए, शिवराज सरकार के सेस टैक्स घटाने का कैसे मिलेगा फायदा?

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार बड़ा फैसला किया है. उन्होंने नगरीय क्षेत्रों में प्रॉपर्टी की बिक्री और खरीद पर लगने वाले सेस टैक्स को 3 फीसदी से घटाकर 1 प्रतिशत कर दिया. शिवराज सरकार ने यह फैसला कोरोना के कारण गड़बड़ाई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए किया है. इससे रियल एस्टेट के कारोबार को बढ़ावा मिलेगा.

क्या है सेस टैक्स?
Cess tax यानी ''उपकर''. आसान भाषा में कहें तो सेस, टैक्स पर लगाया जाने वाला टैक्स (tax on tax) होता है, जिसे आमतौर पर विशिष्ट उद्देश्यों के लिए लगाया जाता है. जब इस टैक्स को लगाने का उद्येश्य पूरा हो जाता है तो इसकी वसूली भी बंद कर दी जाती है. सेस को लगाने का विशेष उद्येश्य किसी सेवा या क्षेत्र को विकसित करना होता है.

12 प्वाइंट्स में समझिए क्या हैं सेस टैक्स से मिलने वाले फायदे?

1. कितने प्रतिशत घटाया गया सेस टैक्स?
- 2 फीसदी सेस घटा दिया है.

2. पहले स्टाम्प ड्यूटी पर कितना प्रतिशत टैक्स लगता था?
- 3 फीसदी लगता था,

3. अब स्टाम्प ड्यूटी पर कितना प्रतिशत टैक्स लिया जाएगा?
- अब सिर्फ 1% से लिया जाएगा.

4. किसे मिलेगा लाभ?
- प्रॉपर्टी की बिक्री और खरीदी करने वाले किसी भी व्यक्ति को.

5. किन-किन क्षेत्रों में प्रॉपर्टी खरीदने पर होगा फायदा?
- इसका लाभ केवल नगरीय क्षेत्रों में प्रॉपर्टी की खरीदी-बिक्री में ही मिलेगा.

6. क्यों लिया गया फैसला?
- कोविड-19 के दौरान बिगड़ी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए.  

7. प्रॉपर्टी खरीदी पर कितने प्रतिशत छूट मिलेगी?
- 2% की मिलेगी छूट.

शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, सेस घटाकर एक फीसदी किया, प्रॉपर्टी खरीद-बिक्री में होगा फायदा

8. कब तक रहेगी छूट?
- 31 दिसंबर 2020 तक.

9. पहले प्रॉपर्टी रजिस्ट्री पर कितना लगती थी स्टाम्प ड्यूटी?
- एक लाख की प्रॉपर्टी पर 9.5% स्टाम्प शुल्क और 3% फीस.

10. अब प्रॉपर्टी रजिस्ट्री पर कितने प्रतिशत की मिलेगी छूट?
- स्टाम्प ड्यूटी 7.5% यानि 2% मिलेगी छूट.

11. कितनी रुपये की बचत होगी?
- एक लाख रुपये पर सीधे 2 हजार की बचत.

12. अभी कितना लिया जाता है शुल्क?
- अभी तक रजिस्ट्री में स्टाम्प ड्यूटी 5%, नगर पालिका शुल्क 3%, जनपद शुल्क 1%, उपकर शुल्क 0.5% और पंजीयन शुल्क 3 फीसदी लिए जाते हैं.

WATCH LIVE TV