close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भोपाल नाव हादसे के पीड़ितों से मिलने पहुंचे शिवराज सिंह, कहा- दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बहुत दुखद घटना हुई है. यह आलोचना का समय नहीं है. लेकिन गणेश विसर्जन पर ऐसी आशंकाएं रहती हैं. प्रशासन को व्यवस्था करना चाहिए थी. 

भोपाल नाव हादसे के पीड़ितों से मिलने पहुंचे शिवराज सिंह, कहा- दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई
शिवराज सिंह चौहान ने की पीडि़तों से मुलाकात.

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार अलसुबह गणेश विसर्जन के दौरान 11 लोगों की तालाब में डूबने से मौत हो गई. इस हादसे के बाद पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटनास्‍थल पर पहुंचकर पीडि़तों का हालचाल जाना. उन्‍होंने इस दौरान कहा कि बहुत दुखद घटना हुई है. यह आलोचना का समय नहीं है. लेकिन गणेश विसर्जन पर ऐसी आशंकाएं रहती हैं. प्रशासन को व्यवस्था करना चाहिए थी. घटना की जांच के आदेश हुए हैं, इसलिए आलोचना नहीं कर रहा.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सीएम और प्रशासन पूरे प्रदेश में सुरक्षा का इंतजाम करें. ये प्राइमरी जिम्मेदारी है. बच्चे चले गए इसलिए संतुष्टि का सवाल नहीं है. मेरा मुख्यमंत्री से आग्रह है कि घटना के दोषियों को चिन्हित करके कार्रवाई होनी चाहिये. परिवारों की स्थिति को देखते हुए कम से कम 10-10 लाख मुआवजा दिया जाना चाहिए.

 

बता दें कि घटना के बाद 5 लोग तैरकर सकुशल बाहर आ गए. अभी कुछ और लोगों के लापता होने की आशंका जताई जा रही है. इसके चलते गोताखोरों की टीम रेस्क्यू में जुटी है. पिपलानी इलाके के लोग आज सुबह करीब 4 बजे चल समारोह के साथ एक बड़ी गणेश प्रतिमा को विसर्जित करने के लिए छोटे तालाब के खटलापुरा घाट पर पहुंचे थे, जहां मूर्ति को क्रेन के सहारे तालाब में विसर्जित किया जा रहा था, इसी दौरान संतुलन बिगड़ने से नाव पलट गई, जिसमें सवार 18 लोग डूब गए, जिनमें से 6 तैरकर तालाब से घाट पर आ गए जबकि 12 लोग पानी से बाहर नहीं निकल सके.

जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा, ''यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. मृतकों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं. हादसे में मृत लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. वहीं, सरकार इस हादसे की जांच कराएगी.''