10 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके पंचायत सचिवों को शिवराज सिंह ने दीं सौगातें

10 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके पंचायत सचिवों को वेतनमान 5200-20200 रुपये मिलेगा. 

10 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके पंचायत सचिवों को शिवराज सिंह ने दीं सौगातें
नवनियुक्त सचिवों को नियुक्ति की तारीख से ही 10 हजार रुपये प्रतिमाह मिलेगा.. (फोटो साभार: ANI)

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को पंचायत सचिवों को कई सौगातें दीं. 10 वर्ष की सेवा पूरी कर चुके पंचायत सचिवों को वेतनमान 5200-20200 रुपये मिलेगा और नवनियुक्त सचिवों को नियुक्ति की तारीख से ही 10 हजार रुपये प्रतिमाह मिलेगा और दो वर्ष बाद वे वेतनमान पाने के पात्र हो जाएंगे. पंचायत सचिवों ने बताया कि मुख्यमंत्री चौहान ने उनकी लंबित मांगें मान ली हैं. मुलाकात के दौरान उन्होंने पंचायत सचिवों को ग्रामीण मध्यप्रदेश की नींव बताया और कहा कि पंचायत सचिवों को अब एक अप्रैल, 2008 से अनुकंपा नियुक्ति की पात्रता होगी. बीमार पड़ने पर 15 दिन का चिकित्सकीय अवकाश दिया जाएगा. 

चौहान ने कहा कि जो बहनें पंचायत सचिव के पद कार्य कर रही हैं, उन्हें 180 दिन का मातृत्व अवकाश दिया जाएगा और सचिव पति को भी 15 दिन का पितृत्व अवकाश दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जब भाजपा की सरकार बनी थी, तब पंचायत सचिवों को पांच सौ रुपये मिलते थे. वर्ष 2008 में 1200 रुपये बढ़ाए गए और 2008 में पंचायत सचिवों को नियमित वेतनमान देना शुरू हुआ. अब इन्हें 5200-20200 रुपये का वेतनमान मिलेगा.

 

 

सरकार ने हमेशा पंचायत सचिवों का साथ दिया है. इस मौके पर मौजूद पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि ग्रामीण विकास की योजनाओं में सूचना प्रौद्योगिकी आधारित प्रक्रियाओं और व्यवस्थाओं से पारदर्शिता आई है. 

चुनाव के मोड में आई शिवराज सरकार
मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार चुनाव के मोड में आ गई है. निकट भविष्य में कुछ और इसी तरह की घोषणाएं देखने को मिल सकती हैं. गुजरात के विधानसभा चुनाव और फिर अभी हाल में राजस्थान के उपचुनाव के नतीजों ने भाजपा की चिंता बढ़ा दी है. सरकार के खिलाफ हाल में शिक्षकों ने आक्रामक प्रदर्शन किया था. इसलिए पूरी उम्मीद है कि अन्य कर्मचारियों की मांगें सरकार मान सकती है.