छत्तीसगढ़: ITBP के जवान ने अपने ही साथियों पर चलाई गोलियां, 6 की मौत, 2 घायल

गोलीकांड में 5 जवान और गोली चलाने वाले आरोपी जवान समेत 6 की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि इस गोलीकांड में 2 जवान गंभीर रूप से घायल हैं.

छत्तीसगढ़: ITBP के जवान ने अपने ही साथियों पर चलाई गोलियां, 6 की मौत, 2 घायल

रायपुर: छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में दर्दनाक गोलीकांड की घटना सामने आई है. यहां सुरक्षाबल के एक जवान ने अपने ही साथी जवानों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी. बताया जा रहा है कि इस गोलीकांड में 5 जवान और गोली चलाने वाले आरोपी जवान समेत 6 की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि इस गोलीकांड में 2 जवान गंभीर रूप से घायल हैं. बताया जा रहा है कि ये सभी जवान आईटीबीपी के थे. 

बस्तर आईजी ने घटना की पुष्टि कर दी है. वहीं, गोलीकांड के पीछे की वजह अभी तक सामने नहीं आई है. नारायणपुर के पुलिस अधीक्षक का कहना है कि आईटीबीपी जवानों के बीच आपस में हुई फायरिंग के कारण 6 जवानों की मौत हो गई है. वहीं, इस गोलीकांड में बीचबचाव के दौरान दो जवान भी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. घायल हुए दोनों जवानों का इलाज किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि सभी जवानों के शवों को रायपुर लाया जा रहा है.

बताया जा रहा है कि धौड़ाई जिले के आईटीबीपी कैंप कड़ेनार में आईटीबीपी के जवान एम रहमान ने अपने निजी हथियार के साथ अपने साथी पर गोली चलाई थी. गोलीकांड में रहमान खान, महेंद्र, विश्वरूप महतो, सुरप्रीत सरकार, उल्लास और दलजीत सिंह की मौत हो गई है. वहीं, घायल दो जवानों बीजीश और सीताराम की हालात गंभीर बनी हुई है. आईटीबीपी के पीआरओ ने बयान जारी करते हुए बताया कि मृतक जवानों के नाम मसुदुल रहमान, सुरजीत सरकार, बिश्वरुप महतो, महेंद्र सिंह, दलजीत सिंह और बीजीश है. वहीं, घायल जवानों के नाम उल्लास और सीताराम हैं.

बताया जा रहा है कि मृतकों में पश्चिम बंगाल के मसुदुल रहमान, सुरजीत सरकार, बिश्वरुप महतो, हिमाचल प्रदेश के महेंद्र सिंह, पंजाब के दलजीत सिंहऔर केरल के बीजीश हैं. वहीं, घायल जवानों में केरल के उल्लास और राजस्थान के सीताराम दून हैं.

 

 

इस घटना पर छत्तीसगढ़ सरकार के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का बयान भी सामने आया है. मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा है कि 5 जवानों के मौत की जानकारी मिलते ही वहां पर घायल जवानों को बचाने के लिए हेलीकॉप्टर भेजा गया है. घायलों को इलाज़ की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यहां पर जवानों को छुट्टी मिलने की दिक्कत नहीं है, ऐसे में इस वजह से गोलीकांड करना समझ से परे है. उन्होंने कहा कि घटना के पीछे की वजह जांच के बाद ही सामने आएगी.