दंतेवाड़ा में पुलिस कैंप का विरोध, एसपी बोले- नक्सली बना रहे ग्रामीणों पर दबाव

दंतेवाड़ा जिले के पोटाली में पुलिस कैंप के विरोध में चल रहा ग्रामीणों का प्रदर्शन मंगलवार को अचानक उग्र हो गया.

दंतेवाड़ा में पुलिस कैंप का विरोध, एसपी बोले- नक्सली बना रहे ग्रामीणों पर दबाव
माना जा रहा है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र में पुलिस कैंप खुलने से नक्सलियों को यहां से पलायन करना पड़ेगा.

दंतेवाड़ा: छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के पोटाली में पुलिस कैंप बनाने के विरोध में ग्रामीणों ने मंगलवार को हिंसक प्रदर्शन किया. पोटाली के ग्रामीणों ने नक्सल प्रभावित इस क्षेत्र में पुलिस कैंप बनाने के विरोध में प्रदर्शन किया. वहीं, इस मामले पर दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने कहा कि पोटाली के ग्रामीणों ने जो कुछ भी किया, वो नक्सलियों के दबाव में आकर किया है. दंतेवाड़ा एसपी ने कहा कि ग्रामीण उत्तेजित थे और नक्सलियों के दबाव के चलते कैंप का घेराव करना चाह रहे थे. पुलिस ने ग्रामीणों को हटाने के लिए आंसू गैस का प्रयोग किया. 

 

दरअसल, दंतेवाड़ा जिले के पोटाली में पुलिस कैंप के विरोध में चल रहा ग्रामीणों का प्रदर्शन मंगलवार को अचानक उग्र हो गया. इस दौरान पुलिस ने हालात काबू में लाने के लिए हवाई फायरिंग की और आंसू गैस के गोले भी छोड़े. दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव का कहना है कि इस क्षेत्र में काफी संख्य में नक्सली रहते हैं. यहां विधायक भीमा मंडावी की हत्या में शामिल नक्सली भी रहते हैं. उन्होंने कहा कि शायद इन नक्सलियों ने ही ग्रामीणों पर प्रदर्शन करने का दबाव बनाया है.   

 

माना जा रहा है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र में पुलिस कैंप खुलने से नक्सलियों को यहां से पलायन करना पड़ेगा. इसी के चलते नक्सली ग्रामीणों पर दबाव बनाकर उन्हें पुलिस कैंप बनाने के विरोध में प्रदर्शन करने को मजबूर कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि पोटाली में पुलिस कैंप के साथ ही बुरगुम, नहाड़ी, गुमियापाल, रेवाली में भी चार नए कैंप खोले जाएंगे.