MP: वाजपेयी के पैतृक शहर ग्वालियर में मेडिकल स्टूडेंट कर रहे हैं हवन, हालत में सुधार की कामना

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालात बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है. 

MP: वाजपेयी के पैतृक शहर ग्वालियर में मेडिकल स्टूडेंट कर रहे हैं हवन, हालत में सुधार की कामना
(फोटो साभार- ANI)

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है. मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के अटल बिहारी वाजपेयी ने भारतीय राजनीति को एक नई दिशा दी थी. वाजपेयी का हालचाल जानने के लिए एम्स में नेताओं को तांता लगा हुआ है. देशभर में लोग उनके स्वस्थ्य होने की दुआएं कर रहे हैं. 

अटल बिहारी वाजपेयी के पैतृक शहर ग्वालियर में भी उनकी सेहत के लिए दुआएं की जा रही हैं. इसी बीच न्यूज एजेंसी ANI ने ग्वालियर की एक खबर शेयर की है. इस खबर के मुताबिक गर्वमेंट के आयुर्वेदिक कॉलेज के छात्र वाजपेयी की अच्छी सेहत के लिए हवन कर रहे हैं. 

LIVE : अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक, अमित शाह एम्‍स पहुंचे

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में पिछले 9 हफ्ते से भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत बुधवार को अचानक ज्‍यादा बिगड़ गई. एम्‍स की तरफ से जारी हेल्‍थ बुलेटिन में बताया गया कि पिछले 24 घंटों में पूर्व प्रधानमंत्री की तबियत ज्‍यादा बिगड़ गई है और उन्‍हें लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर रखा गया है. उनकी यूरिन इंफेक्‍शन और सांस लेने में तकलीफ की समस्‍या बढ़ गई है. 

वाजपेयी की हालात जानने पहुंचे कई बड़े नेता 
पिछले 24 घंटों में उनकी हालत और ज्यादा खराब हुई है. पूर्व प्रधानमंत्री का हालचाल जानने के लिए आज सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू AIIMS पहुंचे. इसके अलावा सत्तापक्ष और विपक्ष के तमाम नेता ट्वीट कर वाजपेयी के दीर्घायु होने की कामना कर रहे हैं.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत करीब 7 मंत्रियों ने एम्स पहुंचकर अटल बिहारी वाजपेयी का हाल जाना. प्रधानमंत्री मोदी शाम करीब सवा 7 बजे एम्स पहुंचे थे. वह करीब 50 मिनट तक अस्पताल में रहे और वाजपेयी का इलाज कर रहे डॉक्टरों से मुलाकात कर उनका हाल चाल जाना.