शर्मनाकः स्वतंत्रता दिवस पर बच्चों को बांटी गई कचरा गाड़ी में भरकर लाई गई मिठाई

 स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मिठाई कचरा गाड़ी में रखकर लाई गई और फिर बच्चों को बांटी गई.

शर्मनाकः स्वतंत्रता दिवस पर बच्चों को बांटी गई कचरा गाड़ी में भरकर लाई गई मिठाई
फोटो साभारः ANI

नई दिल्लीः मध्यप्रदेश में आजादी की 72वीं वर्षगांठ पर एक अलग ही नजारा देखने को मिला. जहां एक स्कूल में बच्चों को कचरा गाड़ी में भरकर मिठाई बांटी गई. दरअसल, मामला अलीराजपुर के जोबट नगरपरिषद का है. जहां स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मिठाई कचरा गाड़ी में रखकर लाई गई और फिर बच्चों को बांटी गई. नगर परिषद कर्मचारियों द्वारा किया गया यह कारनामा न सिर्फ प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान की निंदा करता है बल्की मानवीय दृष्टी से भी यह बेहद निंदनीय घटना है.

गरीबों की जेब पर भारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'स्वच्छ भारत अभियान' योजना

 गाड़ी में रोजाना शहर भर का कचरा इकट्ठा किया जाता है
बता दें स्वतंत्रता दिवस होने के चलते देश भर में ध्वजारोहण के बाद बच्चों में मिठाई बांटी जाती है. ऐसे में जोबट में बच्चों को बांटी जाने वाली मिठाई कचरा गाड़ी में भरकर लाई गई. यह वही कचरा गाड़ी है जिनमें हर रोज सुबह शहर भर का कचरा उठाया जाता है. ऐसे में जिस गाड़ी में रोजाना शहर भर का कचरा इकट्ठा किया जाता है उसमें रखी गई मिठाई बच्चों के स्वास्थ्य के लिए कितनी सेहतमंद होगी इसका अंदाजा तो सभी लगा सकते हैं. 

अलीगढ़ में कूड़े से बनाया ईको फ्रेंडली ईंट, पीएम देंगे खिताब

नगर परिषद उपाध्यक्ष संजय वाणी ने जताई अनभिज्ञता
- वहीं मामले के सामने आते ही पूरे नगर परिषद में बवाल मचा हुआ है. मामले को लेकर नगर परिषद अध्यक्ष राकेश अग्रवाल का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है, लेकिन मामला बेहद गंभीर है इसलिए इस मामले पर जल्द ही जानकारी लेकर वरिष्ठ जिला अधिकारी से इसकी चर्चा करेंगे और दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाई की जाएगी.
- वहीं नगर परिषद उपाध्यक्ष संजय वाणी ने भी अनभिज्ञता जताई है. हालांकि, सवाल यह है कि क्या इन कर्मचारियों को नहीं पता कि जिस कचरा गाड़ी में वह मिठाई भरकर बच्चों को बांट रहे हैं उसमें रोजाना पूरे शहर का कचरा उठाया जाता है. ऐसे में यह बच्चों की सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकता है.