उज्जैन के श्मशान घाट में हुआ तांत्रिक अनुष्ठान, हजार लीटर शराब से महायज्ञ

मध्यप्रदेश के उज्जैन के चक्रतीर्थ श्मशान घाट पर एक विशेष तांत्रिक अनुष्ठान हुआ. अमावस्या की रात भगवान भैरवनाथ मंदिर पर तांत्रिक बम-बमनाथ ने शराब से महायज्ञ किया. 

उज्जैन के श्मशान घाट में हुआ तांत्रिक अनुष्ठान, हजार लीटर शराब से महायज्ञ
प्रतिकात्मक तस्वीर

अजय पटवा, उज्जैन: मध्यप्रदेश के उज्जैन के चक्रतीर्थ श्मशान घाट पर एक विशेष तांत्रिक अनुष्ठान हुआ. अमावस्या की रात भगवान भैरवनाथ मंदिर पर तांत्रिक बम-बमनाथ ने शराब से महायज्ञ किया. इस महायज्ञ में हजार लीटर देशी-विदेशी शराब यज्ञ में चढ़ाई गई. विश्व शांति और जनकल्याण के लिए यह अनुष्ठान कर समापन पर महायज्ञ आयोजित किया गया. विश्व शांति और जनकल्याण उद्देश्य से योगी बम-बम नाथ महाराज की ओर से श्मशान में पिछले 41 दिनों से अनुष्ठान किया जा रहा था, जिसका समापन बीती रात सोमवती अमावस्या पर हुआ.

शमशान में स्थित भगवान भैरवनाथ के समक्ष इस अनुष्ठान के समापन पर महायज्ञ किया गया. इस महायज्ञ से पहले भैरवनाथ की पूजा-अर्चना की गई. भगवान भैरवनाथ का श्रृंगार किया गया. इसके साथ ही एक हजार लीटर देशी-विदेशी शराब भगवान भैरवनाथ को चढ़ाई गई.

महायज्ञ शुरू करने से पहले बाबा बम-बम नाथ से सबसे पहले कपूर से भैरवनाथ की आरती उतारी. इसके बाद एक विशेष प्रकार के यंत्र को बजाकर भैरवनाथ की आराधना की. मंदिर के सामने ही हवन कुंड में महायज्ञ अग्नि प्रज्जवलित की गई. इसके बाद यज्ञ कुंड के ऊपर एक मिट्‌टे के मटके को रखा गया. फिर महायज्ञ की शुरुआत हुई. बम-बमनाथ महाराज ने मटके में शराब डाली. शराब मटके के जरिए यज्ञ में प्रवाहित हुई. कभी बोतल से तो कभी बाल्टी भरकर शराब से महायज्ञ में अनुष्ठान किया गया. करीब एक घंटे चले महायज्ञ में लगातार शराब की धारा महायज्ञ में प्रवाहित होती रही. इस दौरान देशभर से आए भक्तों देर रात तक शमशान के इस अनुष्ठान और महायज्ञ में मौजूद रहे.

बमबम नाथ ने कहा कि विश्व शांति, जनकल्याण और आत्म शांति के लिए यह महायज्ञ किया गया है. इस महायज्ञ में हजार लीटर शराब प्रभावित की गई है. मुंबई से आए श्रद्धालु विकास कुमार ने कहा कि वे विशेष तौर से इसी यज्ञ में शामिल होने के लिए उज्जैन आए थे.