close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीटी बजाकर बोल, ना भैया बाहर नहीं

छतरपुर में आजकल शिक्षक सुबह-सुबह उठ कर गांव-गांव में सीटी बजा रहे हैं और लोगों को समझा रहे हैं, आखिर क्यों कर रहे ऐसा मास्टर साहब, पढ़िए। 

सीटी बजाकर बोल, ना भैया बाहर नहीं
प्रतीकात्मक तस्वीर

छतरपुर: स्वच्छता अभियान को सफल बनाने के लिए अब छतरपुर के डीएम ने सरकारी कर्मचारियों के साथ शिक्षकों की भी ड्यूटी लगा दी है।

इस अभियान में जिले के सरकारी कर्मचारी और शिक्षक गांवों में घूम-घूमकर लोगों को खुले में शौच करने से रोक रहे हैं। 

इतना ही नहीं सुबह-सुबह जब लोग घर में बने शौचालय का उपयोग न कर खुले में शौच करने जाते हैं तो शिक्षक सीटी बजाकर उन्हें रोकते हैं।

शिक्षक लोगों को ऐसा नहीं करने के लिए प्रेरित करते हैं। यही नहीं खुले में शौच करने से होने वाली बीमारियों के बारे में भी बताया जा रहा है।

वहीं शिक्षकों को स्वच्छता अभियान में लगाये जाने से उनमें नाराजगी भी दिख रही है।

जबकि डीएम की दलील है कि ऐसा करने पर जल्द ही खुले में शौच से मुक्ति मिलेगी और लोग खुशहाल होंगे।