आपके काम की खबरः इस करवाचौथ बन रहा है ऐसा मुहूर्त, हर मनोकामना पूरी होगी

करवा चतुर्थी पर योग, नक्षत्र व पंचाग की स्थिति देव कृपा से अखंड सौभाग्य व अनुपम सौंदर्य प्राप्त करने का संकेत दे रही है. इन विशिष्ट योगों की साक्षी में गणेश व चतुर्थी माता का पूजन शुभिच्छ प्रदान करने वाला होगा.

आपके काम की खबरः इस करवाचौथ बन रहा है ऐसा मुहूर्त, हर मनोकामना पूरी होगी
फाइल फोटो

भोपाल: इस साल करवा चौथ का त्योहार 4 नवंबर को है. इसे विवाहित महिलाओं का सबसे अहम त्योहार माना जाता है. इस बार करवा चौथ के मौके पर कई अच्छे संयोग भी बन रहे हैं, खासकर सर्वार्थ सिद्धि योग. वहीं शिवयोग, बुधादित्य योग, सप्तकीर्ति, महादीर्घायु और सौख्य योग का भी निर्माण हो रहा है. ये सभी योग बहुत ही महत्वपूर्ण हैं. इसीलिए सुहागिनों के लिए यह करवा चौथ अखंड सौभाग्य देने वाला होगा. देश के कुछ हिस्सों में कुंवारी लड़कियां भी पूरे विधि-विधान के साथ यह व्रत रखती हैं. जिन लड़कियों की शादी तय हो चुकी होती है, वे भी अपने होने वाले पति के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं.

सुसाइड लाइव में ट्विस्टः अस्पताल जाने को तैयार नहीं थी किरण, पुलिस को देख कर रही थी छिपने की कोशिश

करवा चतुर्थी पर 22 घंटे रहेगा सर्वार्थसि‍द्धि योग
करवा चतुर्थी पर बुधवार को सालों बाद 22 घंटे तक सुख, सौभाग्य का सर्वार्थसि‍द्धि योग रहने वाला है. संयोग यह भी है कि इस दिन मृगशिरा नक्षत्र तथा मिथुन राशि के चंद्रमा की साक्षी रहेगी. ज्योतिषियों के अनुसार इस प्रकार के योग संयोग में भगवान गणेश, चौथ माता व चंद्रमा का पूजन अखंड सौभाग्य के साथ घर परिवार में सुख समृद्धि देने वाला माना गया है, क्योंकि साल के सबसे बड़ी चतुर्थी पर ऐसा संयोग सालों बाद बन रहा है.

अखंड सौभाग्य व अनुपम सौंदर्य की प्राप्ति होगी
करवा चतुर्थी पर योग, नक्षत्र व पंचाग की स्थिति देव कृपा से अखंड सौभाग्य व अनुपम सौंदर्य प्राप्त करने का संकेत दे रही है. इन विशिष्ट योगों की साक्षी में गणेश व चतुर्थी माता का पूजन शुभिच्छ प्रदान करने वाला होगा. इसदिन अखंड सौभाग्य व उत्तम वर की प्राप्ति के लिए महिलाएं व युवतियां साधना कर सकती है.

करवा चौथ का खास मुहूर्त
करवा चौथ की कथा और पूजन के लिए खास मुहूर्त बना है. इस बार शुभ मुहूर्त 5:34 बजे से शाम 6:52 बजे तक है. चार नवंबर को प्रातः 3:24 बजे से कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि सर्वार्थ सिद्धि योग एवं मृगशिरा नक्षत्र में चतुर्थी तिथि का समापन 5 नवंबर को प्रातः 5:14 बजे होगा.

Weather Update:लौटता मानसून बढ़ाएगा ठंड, अक्टूबर में नहीं दिखा सर्दियों का असर

शिव परिवार की पूजा
करवा चौथ के त्योहार पर भगवान शिव के पूरे परिवार की पूजा होती है. इस दिन मां पार्वती, भगवान शिव, कार्तिकेय एवं गणेश की पूजा का विशेष महत्व है. इस दिन करवे में जल भरकर कथा सुनी जाती है. महिलाएं सुबह सूर्योदय से लेकर चंद्रोदय तक निर्जला व्रत रखती हैं और चंद्र दर्शन के बाद ही व्रत खोलती है. स्वयं पानी पीने से पहले चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाता है.

WATCH LIVE TV