close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

किशोर कुमार की 32वीं पुण्यतिथि पर हजारों प्रशंसक पहुंचे खंडवा, दी श्रद्धाजंलि

किशोर कुमार ने 16 हजार फ़िल्मी गाने गाए और 8 बार फ़िल्म फेयर अवार्ड मिला. वह मुंबई हास्य कलाकार बनने गए थे, लेकिन बन गए गायक. 

किशोर कुमार की 32वीं पुण्यतिथि पर हजारों प्रशंसक पहुंचे खंडवा, दी श्रद्धाजंलि
मध्य प्रदेश सरकार उनकी पुण्यतिथि 13 अक्टूबर को फ़िल्म उद्योग से जुड़े ख्यातिनाम व्यक्ति को राष्ट्रीय किशोर सम्मान देती है.

खंडवा: भारतीय फिल्म जगत के हरफनमौला कलाकार किशोर कुमार की 32वीं पुण्यतिथि पर मध्य प्रदेश के खंडवा स्थित उनकी समाधि पर हजारों की संख्या में प्रशसंक पहुंचे. किशोर कुमार की अंतिम इच्छा के मुताबिक उनका पार्थिव शरीर मुंबई से खंडवा लाया गया था. खंडवा में ही उनका अंतिम संस्कार किया गया था. प्रसंशकों ने उसी जगह उनकी समाधि बना दी, जिसकी लोग आज तक पूजा करते हैं. बाद में प्रदेश सरकार ने यहां एक भव्य स्मारक बनवा दिया. जो एक दर्शनीय स्थल के रूप में विकसित हो गया है. देशभर से रविवार को खंडवा आए किशोर कुमार के प्रशसंकों ने गीतों के माध्यम से श्रद्धांजलि दी.

मशहूर टीवी कलाकार शिवानी चक्रवर्ती ने भी यहां श्रद्धासुमन अर्पित किये. किशोर कुमार को दूध जलेबी बहुत पसंद थी. समाधि पर किशोर प्रेमी दूध जलेबी का भोग भी लगते हैं. खंडवा की रहने वाली टीवी कलाकार शिवानी चक्रवर्ती ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि खंडवा का नाम मुंबई में किशोर कुमार के नाम से जाना जाता है. शिवानी ने कहा किशोर कुमार रत्नों के रत्न है, तो उन्हें भारत रत्न दिया जाना चाहिये.

बता दें कि किशोर कुमार ने 16 हजार फ़िल्मी गाने गाए और 8 बार फ़िल्म फेयर अवार्ड मिला. वह मुंबई हास्य कलाकार बनने गए थे, लेकिन बन गए गायक. जिद्दी फ़िल्म से उन्होंने गायकी का सफ़र शुरू किया था. मध्य प्रदेश सरकार उनकी पुण्यतिथि 13 अक्टूबर को फ़िल्म उद्योग से जुड़े  ख्यातिनाम व्यक्ति को राष्ट्रीय किशोर सम्मान देती है. इस बार यह पुरस्कार मशहूर निर्देशक प्रियदर्शन को दिया जा रहा है.