कांग्रेस के तीन मुख्यमंत्री करेंगे 28 सीटों पर प्रचार,बीजेपी स्थानीय नेता के सहारे

बीजेपी को हराने के लिए कमलनाथ ने प्लान तैयार किया है. जिसके तहत कांग्रेस की जीत के लिए तीन राज्य राजस्थान,महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के नेताओं को चुनावी प्रचार में उतारा जाएगा. बीजेपी के प्रदेश के स्थानीय नेता ही पार्टी के लिए वोट मांगते नजर आएंगे.

कांग्रेस के तीन मुख्यमंत्री करेंगे 28 सीटों पर प्रचार,बीजेपी स्थानीय नेता के सहारे
फाइल फोटो

भोपाल: प्रदेश में 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस और बीजेपी कोई कसर नही छोड़ रही है. इसके लिए दोनों ही पार्टियां स्टार प्रचारकों के माध्यम से 28 सीटों को साधने में लग गयी है. कांग्रेस जहां पड़ोसी राज्यों के राजनेताओं के भरोसे है तो वही बीजेपी राष्ट्रीय नेता के बजाय प्रदेश के जाने माने नेता ही प्रचार करते नजर आएंगे.
शिवपुरी में तोड़ी गई बाबा साहेब भीमराव आम्बेडकर की मूर्ति, विधानसभा सीट पर है अनुसूचित जाति का प्रभाव

बीजेपी के स्टार प्रचारक
बीजेपी के प्रदेश के नेता ही पार्टी के लिए वोट मांगते नजर आएंगे. जिनमें प्रमुख नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया, राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ,बीजेपी से पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पहले ही शिवराज सिंह के साथ चुनावी मंच साझा कर चुकी है. सांसद राकेश सिंह, नंदकुमार सिंह चौहान, प्रदेश के गृहमंत्री डॅा. नरोत्तम मिश्रा, पीडब्लयूडी मंत्री गोपाल भार्गव समेत कई और अन्य नेता बीजेपी के लिए वोट मांगते नजर आ सकते है. 

अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को बॉम्बे हाईकोर्ट ने जमानत दी,भाई शोविक की जमानत अर्जी खारिज

कांग्रेस के दिग्गज चुनावी मैदान में
बीजेपी को हराने के लिए कमलनाथ ने प्लान तैयार किया है. जिसके तहत कांग्रेस की जीत के लिए तीन राज्य राजस्थान,महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के नेताओं को चुनावी प्रचार में उतारा जाएगा. जिसके लिए कांग्रेस ने सूची भी तैयार ली है कि कौनसा नेता कहा से चुनाव प्रचार करेंगा. 

1 भूपेश बघेल- अनूपपुर विधानसभा की सीट छत्तीसगढ़ से लगे होने की वजह से कांग्रेस ने इस सीट पर प्रचार के लिए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को सौंपा है. 

2 अशोक गहलोत- राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत को सीमा से लगे सुमावली, पोहरी, बमोरी, सुवासरा सीट पर प्रचार करेंगे. इन सीटों पर जातीय समीकरण को भी ध्यान रखा है.  

3 उद्धव ठाकरे- खबरों की माने तो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री भी इस उपचुनाव में कांग्रेस की तरफ से प्रचार कर सकते है. महाराष्ट्र सीमा से लगे नेपानगर में मराठी लोगों काफी संख्या में रहते है. इसलिए यह जिम्मेदारी उद्धव को दी गई है.

4 सचिन पायलट- उत्तरप्रदेश की सीमा से लगी ग्वालियर-चंबल की विधानसभा सीटों पर कांग्रेस के पायलट वोटों पर सेंध मारते नजर आएंगे. यहां वो सीटें हैं जहां पर गुर्जर वोट बहुल है जो सचिन कांग्रेस के पक्ष में ला सकते है.

WATCH LIVE TV