ग्वालियर: सर्दी ने तोड़ा 25 साल का रिकॉर्ड, रेल यातायात हुआ प्रभावित

ग्वालियर चंबल संभाग में भी तापमान लगातार गिरता चला जा रहा है, जिसके चलते लगातार हो रहे कोहरे ने सड़क और रेल यातायात को अवरुद्ध कर रखा है.

ग्वालियर: सर्दी ने तोड़ा 25 साल का रिकॉर्ड, रेल यातायात हुआ प्रभावित
ग्वालियर में रविवार रात का न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया

ग्वालियर: इस साल ठंड ने 25 सालों का रिकॅार्ड तोड़ा दिया है.लोग ठंड से बेहाल हैं और खासी परेशानियों का सामना भी कर रहे है. मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में जहां तापमान माइनस डिग्री में भी दर्ज किया गया है वहीं ग्वालियर चंबल संभाग में भी तापमान लगातार गिरता चला जा रहा है, जिसके चलते लगातार हो रहे कोहरे ने सड़क और रेल यातायात को अवरुद्ध कर रखा है. ग्वालियर चंबल अंचल के सभी जिलों में तापमान 5 डिग्री के नीचे चला गया है इसके साथ ही यहां शीतलहर का कहर भी लगातार जारी है. ग्वालियर जिले में सर्दी ने 25 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है, ग्वालियर में रविवार रात का न्यूनतम तापमान 2.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया. इससे पहले 12 दिसंबर 1994 में  इस तरह की कड़ाके की ठंड का लोगों को सामना करना पड़ा था. 

 

गौरतलब है कि घने कोहरे के चलते दिल्ली की तरफ से आने वाली ट्रेनें कई घंटों देरी से चल रही हैं जिसके वजह से यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस कड़ाके की ठंड में भी यात्रियों को एक से 2 घंटे तक ट्रेन के इंतजार में खड़े रहना पड़ रहा है. मौसम विभाग की मानें तो आने वाले एक सप्ताह तक ग्वालियर चंबल वासियों को इसी तरह की  कड़ाके की सर्दी का सामना करना पड़ेगा.