close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़: पुलिस भर्ती में किन्नरों ने महिलाओं को छोड़ा पीछे, बनाया रिकॉर्ड

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव पुलिस भर्ती में जिले के अभ्यर्थी सहित किन्नरों ने भी हिस्सा लिया. मंगलवार को भर्ती में आए सात में से पांच किन्नरों ने पुलिस महकमे के चयन प्रक्रिया के पहले चरण में अपनी जगह बना ली है.

छत्तीसगढ़: पुलिस भर्ती में किन्नरों ने महिलाओं को छोड़ा पीछे, बनाया रिकॉर्ड
फाइल फोटो

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव पुलिस भर्ती में जिले के अभ्यर्थी सहित किन्नरों ने भी हिस्सा लिया. मंगलवार को भर्ती में आए सात में से पांच किन्नरों ने पुलिस महकमे की चयन प्रक्रिया के पहले चरण में अपनी जगह बना ली है. पुलिस भर्ती में अब तक लगभग 12000 महिला अभ्यर्थी हिस्सा ले चुकी हैं और वहीं 96 किन्नरों ने भी अपनी दावेदारी की है. मंगलवार को हुई 800 मीटर की दौड़ में महिलाओं का रिकॉर्ड 2 मिनट 44 सेकेंड रहा, जबकि भर्ती में पहली बार हिस्सा ले रहे किन्नरों ने इसे तोड़ते हुए 2 मिनट 37 सेकंड का नया रिकॉर्ड कायम किया है.

भर्ती के पहले ग्रुप में आज पांच किन्नर अशोक बंजारे, कामता प्रसाद कंवर, मुकेश यादव, अनिल सोनकर और डोमन साहू ने क्वालीफाई किया है, जबकि प्रदेशभर में अब तक 21 किन्नरों ने पुलिस भर्ती चयन के दूसरे चरण में अपनी जगह बना ली है. वहीं भर्ती का दूसरा चरण 11 मई को होगा. छत्तीसगढ़ पुलिस की भर्ती प्रक्रिया में किन्नरों ने बेहतर प्रदर्शन किया, जिसमें अम्बिकापुर से अक्षरा का 2 मिनट 58 सेकेंड, धमतरी से तृप्ति का 2 मिनट 42 सेकेंड और सेजल का 2 मिनट 40 सेकेंड का रिकॉर्ड टाइम रहा.  भर्ती में चांपा, सूरजपुर, धमतरी, बिलासपुर, जांजगीर, राजनांदगांव और रायपुर के किन्नरों ने हिस्सा लिया है. वहीं बिना जूते के और कम समय में तैयारी कर किन्नरों ने बेहतर प्रदर्शन किया है. 

छत्‍तीसगढ़ बना पुलिस फोर्स में ट्रांसजेंडर्स को मौका देने वाला पहला प्रदेश

छत्तीसगढ़ मितवा संकल्प समिति की अध्यक्ष विद्या राजपूत ने कहा कि इन लोगों को छत्तीसगढ़ पुलिस एक नया युग और अपनी अलग पहचान बनाने में मदद करती है. अभी तो इन्होनें क्वालीफाइंग के दौर को पार किया है, अब उनको पुलिस बनने के लिए पढ़ा है क्योंकि दूसरे चरण में उन्हें पेपर में पास होना है. वह कल तक जो करते थे उसको भुलाकर अब सामाज में एक अलग पहचान बनाएं और जनता की सेवा करें. 

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव प्रफुल्ल ठाकुर ने कहा कि पुलिस भर्ती में 7 किन्नरों ने हिस्सा लिया है और उनका जोश देखते ही बनता है. 

(इनपुट: IANS)