Joe Biden प्रशासन में भारतीयों का दबदबा! जानिए 20 Indian Americans को जो चलाएंगे सरकार

डॉ. विवेक मूर्ति को अमेरिका का 21वां सर्जन जनरल नियुक्त किया गया है. बराक ओबामा की सरकार में भी डॉ. विवेक मूर्ति सर्जन जनरल का अहम पद संभाल चुके हैं. 

Joe Biden प्रशासन में भारतीयों का दबदबा! जानिए 20 Indian Americans को जो चलाएंगे सरकार
यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडेन और वाइस प्रेसिडेंट कमला हैरिस.

नई दिल्लीः अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों का बढ़ता दबदबा इसी बात से समझा जा सकता है कि जो बाइडेन प्रशासन में भारतीय मूल के 20 लोगों को अहम जिम्मेदारियां मिली हैं. अमेरिका के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि इतनी बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोगों को शीर्ष प्रशासनिक जिम्मेदारियां दी गई हैं. बता दें कि अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की मां भी भारतीय थीं.

इन्हें मिली अहम जिम्मेदारियां
नीरा टंडनः नीरा टंडन को जो बाइडेन सरकार में व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ मैनेजमेंट एंड बजट का निदेशक बनाया गया है. मेसाच्युसेट के बेडफोर्ड में जन्मीं नीरा टंडन(50 वर्षीय) अभी सेंटर ऑफ अमेरिकन प्रोग्रेस की अध्यक्ष के तौर पर सेवा दे रहीं थी. सेंटर ऑफ अमेरिकन प्रोग्रेस को एक प्रभावशाली थिंक टैंक माना जाता है. 

डॉ. विवेक मूर्तिः डॉ. विवेक मूर्ति को अमेरिका का 21वां सर्जन जनरल नियुक्त किया गया है. बराक ओबामा की सरकार में भी डॉ. विवेक मूर्ति सर्जन जनरल का अहम पद संभाल चुके हैं. डॉ. मूर्ति, दिसंबर 2020 में जो बाइडेन द्वारा अमेरिका में कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए बनायी गई टास्क फोर्स के सह-अध्यक्ष भी हैं. डॉ मूर्ति का ताल्लुक भारत के कर्नाटक राज्य से है. 

वनिता गुप्ताः जो बाइडेन प्रशासन में वनिता गुप्ता को एसोसिएट अटॉर्नी जनरल पद की जिम्मेदारी मिली है. वनिता गुप्ता की गिनती अमेरिका के बड़े सिविल राइट्स अटॉर्नी के रूप में की जाती है.  

उजरा जेयाः बाइडेन प्रशासन में उजरा जेया को नागरिक सुरक्षा, लोकतंत्र और मानवाधिकार सचिव बनाया गया है. उजरा जेया का ताल्लुक कश्मीर से है. जेया इससे पहले ट्रंप प्रशासन में भी काम कर चुकी हैं लेकिन उन्होंने ट्रंप प्रशासन से इस्तीफा दे दिया था. 

विनय रेड्डीः विनय रेड्डी को स्पीच राइटिंग का निदेशक बनाया गया है. विनय रेड्डी लंबे समय से जो बाइडेन के साथ काम करते आए हैं. चुनाव प्रचार के दौरान भी बाइडेन और हैरिस की स्पीच की जिम्मेदारी विनय रेड्डी संभाल रहे थे. विनय रेड्डी भारतीय माता-पिता की संतान हैं और उनका जन्म ओहियो को डेटन में हुआ था. 

भारत राममूर्तिः राममूर्ति, बाइडेन प्रशासन में डिप्टी डायरेक्टर ऑफ द नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल ऑफ फाइनेंशियल रिफॉर्म एंड कंज्यूमर प्रोटेक्शन का पद संभालेंगे. राममूर्ति सीनेटर एलिजाबेथ वारेन के आर्थिक सलाहकार भी रह चुके हैं. मेसाच्युसेट में पैदा हुए भारत राममूर्ति हार्वर्ड कॉलेज और येले लॉ स्कूल से ग्रेजुएट हैं. 

गौतम राघवनः जो बाइडेन ने गौतम राघवन को डिप्टी डायरेक्टर ऑफ द ऑफिस ऑफ द प्रेसिडेंशियल पर्सनल बनाया है. गौतम राघवन इससे पहले भी कई अहम जिम्मेदारियां निभा चुके हैं. गौतम का जन्म भारत में हुआ और बाद में उनका परिवार सिएटल में शिफ्ट हो गया था. 

माला अडिगाः माला अडिगा को अमेरिका की फर्स्ट लेडी जिल बाइडेन का पॉलिसी डायरेक्टर बनाया गया है. माला अडिगा इससे पहले भी जिल बाइडेन के साथ जुड़ी रही हैं. माला अडिगा, एजुकेशन पॉलिसी की विशेषज्ञ हैं. वह कर्नाटक बैंक प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक रहे दिवंगत सूर्यनारायण अडिगा और 2008 में बुकर प्राइज जीतने वाले अरविंद अडिगा की रिश्तेदार हैं. 

गरिमा वर्माः अमेरिका की फर्स्ट लेडी जिल बाइडेन के डिजिटल डायरेक्टर की जिम्मेदारी गरिमा वर्मा को दी गई है. गरिमा वर्मा, बाइडेन हैरिस के चुनाव प्रचार टीम का हिस्सा भी रहीं. वर्मा का जन्म भी भारत में हुआ लेकिन उनका लालन-पालन ओहियो और कैलिफोर्निया की सेंट्रल वैली में हुआ है. 

तरुण छाबराः बाइडेन प्रशासन में तरुण छाबड़ा को सीनियर डायरेक्टर ऑफ टेक्नोलॉजी एंड नेशनल सिक्योरिटी की जिम्मेदारी दी गई है. छाबरा, अमेरिका के टेनेसी में जन्मे और लुइसियाना में पले-बढ़े हैं.

सुमोना गुहाः बाइडेन सरकार में सुमोना गुहा को साउथ एशिया, नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल की वरिष्ठ निदेशक के पद पर नियुक्ति की गई है. इससे पहले भी गुहा कई अहम पद की जिम्मेदारी संभाल चुकी हैं. 

शांति कलातिलः बाइडेन प्रशासन में शांति कलातिल को कॉर्डिनेटर फॉर डेमोक्रेसी एंड ह्युमन राइट्स बनाया गया है. कलातिल इससे पहले एक किताब भी लिख चुकी हैं. उनका जन्म कैलिफोर्निया में हुआ है. 

सोनिया अग्रवालः सोनिया अग्रवाल को क्लाइमेट पॉलिसी एंड इनोवेशन की वरिष्ठ सलाहकार बनाया गया है. ओहियो में पैदा हुई सोनिया अग्रवाल ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से मास्टर डिग्री की है. 

सबरीना सिंहः भारतीय अमेरिकी सबरीना सिंह को उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का डिप्टी प्रेस सचिव बनाया गया है. सबरीना बाइ़डेन हैरिस की चुनाव प्रचार टीम का हिस्सा भी थीं. 

आयशा शाहः बाइडेन प्रशासन में आयशा शाह को व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ डिजिटल स्ट्रैटेजी की पार्टनरशिप मैनेजर बनाया गया है. आयशा शाह का ताल्लुक भी कश्मीर से है. 

समीरा फाजिलीः भारतीय अमेरिकी समीरा फाजिली को व्हाइट हाउस में नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल का डिप्टी डायरेक्टर बनाया गया है.

वेदांत पटेलः जो बाइडेन सरकार में असिस्टेंट प्रेस सेक्रेटरी के पद पर वेदांत पटेल की नियुक्ति की गई है. व्हाइट हाउस प्रेस का हिस्सा बनने वाले वेदांत पटेल अमेरिकी इतिहास के सिर्फ तीसरे भारतीय मूल के व्यक्ति हैं. 

विदुर शर्माः हेल्थ पॉलिसी एक्सपर्ट विदुर शर्मा को जो बाइडेन सरकार में कोरोना वायरस की रेस्पांस टीम में टेस्टिंग एडवाइजर के पद पर नियुक्त किया गया है.  

नेहा गुप्ताः नेहा गुप्ता को बाइडेन प्रशासन में व्हाइट हाउस काउंसेल में एसोसिएट काउंसेल बनाया गया है. इससे पहले गुप्ता सैन फ्रांसिस्को शहर की डिप्टी सिटी अटॉर्नी भी रह चुकी हैं. गुप्ता ने हार्वर्ड से स्नातक किया है. 

रीमा शाहः बाइडेन प्रशासन में रीमा शाह को व्हाइट हाउस काउंसेल में डिप्टी एसोसिएट काउंसेल का पद दिया गया है. हार्वर्ड से स्नातक रीमा शाह ने कैंब्रिज और येले लॉ स्कूल से भी पढ़ाई की है. 

रोहित चोपड़ाः रोहित चोपड़ा को जो बाइडेन प्रशासन में डायरेक्टर ऑफ कंज्यूमर फाइनेंशियल प्रोटेक्शन ब्यूरो के पद पर नियुक्त किया गया है. चोपड़ा फेडरल ट्रेड कमीशन के कमिश्नर भी हैं.  

WATCH LIVE TV