हीमोग्लोबिन की कमी से 6 साल की बच्ची की मौत, अगर आपको भी हो रही हैं ये समस्याएं तो यहां पढ़िए समाधान

शरीर में रेड ब्लड सेल्स या हीमोग्लोबिन की संख्या कम होने पर कई बीमारियां होने लगती हैं. पढ़िए पूरी खबर...

हीमोग्लोबिन की कमी से 6 साल की बच्ची की मौत, अगर आपको भी हो रही हैं ये समस्याएं तो यहां पढ़िए समाधान

नई दिल्ली: भागदौड़ भरी जिंदगी में सही खानपान न करने और किसी भी समय कुछ भी खा लेने वाली आदत के कारण शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी होने लगती है. जिस वजह से रेड ब्लड सेल्स नष्ट होने शुरू हो जाते हैं और शरीर में खून की कमी होने लगती है. ध्यान देने वाली बात ये है कि शरीर में हीमोग्लोबिन यानी खून की कमी होने से इंसान की मौत भी हो सकती है.

ताजा मामला यूपी की राजधानी लखनऊ से सामने आया है, जहां लखनऊ से मुंबई जा रही एक फ्लाइट में सात साल की बच्ची को दिल का दौरा पड़ गया, जिसके बाद अस्पताल ले जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई. बात में पता चला कि वो एनिमिया से पीड़ित थी और उसके पिता उसे इलाज के लिए दिल्ली लेकर जा रहे थे.जिस बच्ची की मौत हुई वो उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर जिले के सहेरिखास गांव की रहने वाली थी और उसे उपचार के लिए लखनऊ से मुंबई ले जाया जा रहा था.

ये भी पढ़ें: निचली अदालत के फैसले से हाईकोर्ट ने जतायी असहमति, जानिए जज से क्यों लिखवाया निबंध?

यात्रा के दौरान बच्ची की हालत बिगड़ गई और विमान को बाबासाहेब अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आपातकालीन स्थिति में उतारा गया. हालांकि, अस्पताल पहुंचने के बाद डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची के खून में सिर्फ 2.5 ग्राम हिमोग्लोबिन था.

क्या कहते हैं हेल्थ एक्सपर्ट
हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि शरीर में रेड ब्लड सेल्स या हीमोग्लोबिन की संख्या कम होने पर कई बीमारियां होने लगती हैं. वास्तव में एनीमिया कोई बीमारी नहीं है, लेकिन यह कई बीमारियों की वजह जरूर बन सकता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि समय रहते इस पर काबू पाकर सेहत संबंधी कई गंभीर समस्याओं से बचा जा सकता है.

हीमोग्लोबिन क्या है और क्या काम करता है
इंसान के खून में पायी जाने वाली लाल रक्त कणिकाओं पर हीमोग्लोबिन मौजूद रहता है. जो फेफड़ों और गलफड़ों से शरीर के भीतर ऑक्सीजन युक्त रक्त ले जाने का काम करता है, साथ ही शरीर की सभी प्रक्रियाओं को सुचारु रूप से करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शरीर के आयरन का लगभग 70 प्रतिशत हीमोग्लोबिन में पाया जाता है, जो कि श्वसन, मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रखने और इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आवश्यक है.

ये भी पढ़ें: जानिए कौन हैं विनय रेड्डी? जिन्होंने लिखी थी जो बाइडेन की स्पीच, अमेरिकी मीडिया में जमकर हो रही तारीफ

हीमोग्लोबिन कम होने की वजह

  1. रेड ब्लड सेल्स की संख्या कम होना
  2. शरीर में आयरन की कमी होना
  3. रेड ब्लड सेल्स का जल्दी से नष्ट होना
  4. किसी बीमारी या एक्सीडेंट होने के दौरान ज्यादा खून बह जाना

हीमोग्लोबिन कम होने के लक्षण

  1. हर समय थकान महसूस होना
  2. डिप्रेशनकी समस्या
  3. त्वचा में पीलापन
  4. सांस लेने में समस्या
  5. चक्कर आना
  6. थकान होना
  7. सीने में दर्द
  8. तलवे और हथेलियों का ठंडा पड़ना
  9. लगातार सिर में दर्द
  10. शरीर में तापमान की कमी
  11. आंखों के नीचे काले घेरे

कितना होना चाहिए शरीर में हीमोग्लोबिन
पुरुषों में हीमोग्लोबिन का सामन्य स्तर  13.5-17.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर होता है. वहीं, महिलाओं में कम से कम 12.0 – 15.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर हीमोग्लोबिन की मात्रा को सेहतमंद माना जाता है. ह्यूमन सेल्स व फेफड़ों तक ऑक्सीजन पहुंचाने का महत्वपूर्ण काम भी हीमोग्लोबिन का ही होता है. ऐसे में इनकी कमी शरीर के लिए घातक भी साबित हो सकती है. ऐसा बताया जाता है कि रक्त द्वारा फेफड़ों तक पहुंचने वाले ऑक्सीजन की तकरीबन 97 प्रतिशत मात्रा हिमोग्लोबिन की मदद से ही पहुंचाई जाती है.

कैसे बढ़ाएं हीमोग्लोबिन
शरीर में अगर पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों की पूर्ति होती रहेगी तो इससे हीमोग्लोबिन भी सामन्य बना रहेगा. वहीं, इनकी कमी से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर भी घट जाता है. ऐसे में कुछ विशेष न्यूट्रिएंट्स शरीर में अवश्य रहने चाहिए. फोलेट, विटामिन ए और सी, आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को अपने डाइट में शामिल करना चाहिए. जो लोग लो हीमोग्लोबिन की परेशानी से जूझ रहे हैं, उन्हें अपने खाने में पालक, बीन्स, चुकंदर, गाजर, नींबू, मटर, हरा चना, पनीर, राजमा और शिमला मिर्च को शामिल करना चाहिए. इसके अलावा, मछली, चिकेन, अंडा और मटन के सेवन से भी हीमोग्लोबिन की कमी को दूर किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: अगस्त तक सभी के लिए QR-Code वाले हेल्थ कार्ड जारी करने की तैयारी, मिलेगा फायदा ही फायदा

ये भी पढ़ें: ASI सीमा ढाका पर फिल्म बनाने की लगी होड़, 76 बच्चों को ढूंढकर आयीं थी चर्चा में

WATCH LIVE TV