जिसे भाई से भी ज्यादा चाहा, स्कूल में साथ पढ़ा, उसी दोस्त ने शराब पिलाकर मारा, जानिए वजह

यूं तो खून के रिश्ते से भी बड़ा दोस्ती का रिश्ता कहा जाता है. लेकिन इस रिश्ते और भरोसे को तार तार करने वाली एक वारदात ग्वालियर से सामने आई है.

जिसे भाई से भी ज्यादा चाहा, स्कूल में साथ पढ़ा, उसी दोस्त ने शराब पिलाकर मारा, जानिए वजह
मामले का खुलास करती पुलिस

ग्वालियर: यूं तो खून के रिश्ते से भी बड़ा दोस्ती का रिश्ता कहा जाता है. लेकिन इस रिश्ते और भरोसे को तार तार करने वाली एक वारदात ग्वालियर से सामने आई है. जहां एक दिन पहले ठेकेदार की हत्या करने वाले मामले में चौकाने वाला खुलासा हुआ है. इस हत्या का आरोपी मृतक सचिन तोमर का बचपन का दोस्त अमित जैन ही निकला है.

पीड़िता की शिकायत पर नहीं हुआ एक्शन, सांसद प्रज्ञा सिंह ने पुलिस की लगा दी क्लास

शराब पिलाकर मारा
दरअसल दोनों स्कूल के समय से ही पक्के दोस्त थे. सचिन उस पर अपने भाई से ज्यादा विश्वास करता था. लेकिन आरोपी अमित जैन ने 4 लाख रुपए उससे उधार लिए थे. जिसे वह लौटा नहीं पा रहा था. इसी बात को लेकर उसने अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर पहले शराब पार्टी की फिर उसे नशे की हालत में सिरोल पहाड़ी के सूनसान इलाके में ले गए जहां उसे फिर से शराब पिलाई और इसी दौरान साफी से गला घोंटकर उसे मार डाला.

परिजन के बयान और सीसीटीवी से पकड़ाया
आरोपी तक पुलिस मृतक के परिजनों के बयान के आधार पर पहुंची. जहां उन्होंने बताया था कि वह उधारी के रुपये लेने मोहना गया है. इस दौरान मोहना टोल पर CCTV खंगाले गए तो आरोपियों की पहचान हो गयी. पुलिस ने जब संदेह के आधार पर सचिन के दोस्त अमित को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. वहीं उसके दो अन्य साथियों के सम्बंध में पूछताछ की जा रही है.

समाज की रूढ़िवादी सोच के कारण होने वाला था तलाक, हुआ कुछ ऐसा कि फिर हो गया प्यार

कल मिला था पुलिस को शव
गौरतलब है कि कल सिरोल पहाड़ी पर ठेकेदार सचिन तोमर का शव मिला था. सचिन तोमर प्रॉपर्टी डीलर और ठेकेदार था. वह मार्केट में ब्याज पर भी पैसा चलाता था. बाजार में व्यापारियों को वह अमित के माध्यम से ही पैसा देता था. दोनों के बीच में अच्छी ट्यूनिंग थी लेकिन इस दौरान दिए गए रुपये सचिन को न लौटाना पड़े. इसको लेकर दोस्ती में दगा देते हुए हत्या की यह पूरी पटकथा लिखी गयी थी.

WATCH LIVE TV