नहाने की इतनी बड़ी सजाः पुलिस नाबालिगों का बिना कपड़ों के निकलवाया जुलूस, उठक-बैठक भी कराई

बड़े तालाब में नहाने पर भोपाल पुलिस ने नाबालिग बच्चों से परेड कराई. 

नहाने की इतनी बड़ी सजाः पुलिस नाबालिगों का बिना कपड़ों के निकलवाया जुलूस, उठक-बैठक भी कराई
पुलिस ने बच्चों से बिना कपड़ों के कराई परेड

भोपालः भोपाल के बड़े तालाब में नहाना कुछ बच्चों को भारी पड़ गया. हालांकि कोरोना के चलते तालाब में नहाना प्रतिबंधित है. लेकिन भोपाल पुलिस ने इन बच्चों को कुछ ऐसी सजा दी जिससे न केवल भोपाल पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं. बल्कि इसे बेहद अमानवीय घटना भी माना जा रहा है. 

बिना कपड़ों के कराई सड़क पर परेड 
दरअसल, कुछ बच्चें भोपाल की वीआईपी रोड पर बड़े तालाब में नहा रहे थे. पुलिस ने इन नाबालिगों को गोताखोरों की मदद से पकड़ा. पानी से बाहर निकलने के बाद पुलिस ने इन सभी नाबालिगों के कपड़े जब्त कर लिए और उनसे अर्थनग्न अवस्था में सड़क पर परेड कराई और उनसे उठक-बैठक भी लगवाई. इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. हालांकि बताया जा रहा है कि यह वीडियो दो दिन पुराना है. 

बच्चों के भागने पर लगवाई उठक बैठक 
रविवार के दिन कुछ बच्चें वीआईपी जब रोड नहा रहे थे, तभी गोताखोरों की एक टीम ने उन्हें पकड़ लिया. इस बीच डायल-100 भी पहुंच गई, जिन्हें देखकर बच्चें भागने लगे. जहां कुछ बच्चों को पकड़कर पुलिस ने उनसे उठक बैठक लगवाई. वही इस मामले में गोताखोर और पुलिस की टीम का कहना है आए दिन बड़े तालाब में हादसे होते रहते हैं .कई बार बच्चों को मना किया जाता हैं. इन्हें सबक सिखाने के लिए यह सजा दी गई.

मामले की जांच के आदेश 
वहीं भोपाल पुलिस की इस अमानवीय हरकत के बाद मामले को लेकर जांच के आदेश दिए गए हैं. बड़े तालाब में नाबालिगों के स्वीमिंग को लेकर बच्चों की परेड और उठ्ठक बैठक के वीडियो को लेकर एएसपी आरएस मिश्रा ने बताया कि इस पूरे मामले की जांच की जाएगी. जिसकी लापरवाही सामने आएगी उस पर कार्रवाई की जाएगी. 

ये भी पढ़ेंः मंडला में नक्सलियों की मूवमेंट पर बोले केंद्रीय मंत्री- नक्सली भी इंसान हैं, उन्हें भी भोजन की जरूरत है

WATCH LIVE TV