धमाकों से गूंजा कलेक्ट्रेट, एक के बाद एक फटी 10 बैटरियां, इस वजह से हुआ हादसा

बताया जा रहा है कि कलेक्ट्रेट के कमरा नंबर 33 में सौर ऊर्जा पैनल में लगी 20 बैटरी रखी थीं, जिनमें ब्लास्ट हो गया. 

धमाकों से गूंजा कलेक्ट्रेट, एक के बाद एक फटी 10 बैटरियां, इस वजह से हुआ हादसा
बैटरियों में हुआ ब्लास्ट

अशोकनगरः अशोकनगर जिले के कलेक्ट्रेट में उस वक्त हंगामा मच गया, जब अचानक कलेक्ट्रेट भवन के एक कमरे में ब्लास्ट हो गया. ब्लास्ट होते ही हड़कंप मच गया. बताया जा रहा है कि कलेक्ट्रेट भवन में रखी 10 बैटरियां एक साथ फट गईं. गनीमत रही की कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. 

ऑफिस कमरा नंबर 33 में हुआ ब्लास्ट 
दरअसल, बताया जा रहा है कि कलेक्ट्रेट के कमरा नंबर 33 में सौर ऊर्जा पैनल में लगी 20 बैटरी रखी थीं. दोपहर के वक्त अचानक से इन्ही बैटरियों में धमाका हो गया. जहां एक बाद एक 10 बैटरियों में ब्लास्ट हुआ. बैटरियों में ब्लास्ट होते ही कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा-तफरी मच गई. पूरे कलेक्ट्रेट में धुआं फैल गया. काफी देर तक बैटरियों में से चिंगारी भी निकलती रही. हालांकि जब 

आग पर पाया गया काबू 
जैसे ही इस मामले की जानकारी दमकल को लगी तो दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची, जबकि बैटरियों में आग लगने की वजह से बिजली विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए. हालांकि उसके पहले ही कलेक्ट्रेट परिसर के कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया. मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि ब्लास्ट बहुत तेज हुआ था. लेकिन गनीमत रही कि की कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. 

इस वजह से हुआ हादसा 
एमपीबी के कर्मचारी ने बताया कि बैटरियों में आग ओवरलोडिंग की वजह से लग गई. जिससे शॉर्ट शर्किट हुआ और एक-एक करके बैटरियों में आग लग गई. इस दौरान कलेक्ट्रेट में पदस्थ एक बाबू महेश कलोदिया ने बताया कि जिस वक्त धमाका हुआ, उस वक्त मैं वहां से गुजर रहा था ऐसे में उन्हें भागकर जान बचाई. फिलहाल बताया जा रहा है कि कमरा नंबर 33 में 20 बैटरियां रखी थी जिनमें से 10 बैटरियां फट गई और बाकि की 10 बैटरियां सुरक्षित हैं. 

ये भी पढ़ेंः MP के इस जिले में बढ़ी नक्सलियों की सक्रियता, पुलिस-सीआरपीएफ अलर्ट पर

WATCH LIVE TV