छपरा-मुंबई एक्सप्रेस में हथियारबंद लुटेरों के चढ़ने की खबर, विदिशा में हुई ट्रेन की सर्चिंग

भोपाल कंट्रोल रूम से विदिशा पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ हथियारबंद लुटेरे इस ट्रेन में चढ़े हैं. 

छपरा-मुंबई एक्सप्रेस में हथियारबंद लुटेरों के चढ़ने की खबर, विदिशा में हुई ट्रेन की सर्चिंग
विदिशा में रोकी गई छपरा-मुंबई एक्सप्रेस

विदिशाः विदिशा (Vidisha) के रेलवे स्टेशन पर उस वक्त हड़कंप मच गया. जब छपरा से मुंबई जाने वाली छपरा मुंबई एक्सप्रेस (Chhapra Mumbai Express) विदिशा रेलवे स्टेशन पर पहुंची. क्योंकि ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचते ही उसे रोका गया और पुलिस ने ट्रेन की चेकिंग शुरू कर दी. जिससे मौके पर मौजूद लोग हैरान हो गए. 

हथियारबंद लुटेरे ट्रेन में चढ़ने की मिली थी सूचना 
दरअसल, भोपाल कंट्रोल रूम से विदिशा पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ हथियारबंद लुटेरे इस ट्रेन में चढ़े हैं, जो लूटपाट की घटना और यात्रियों को हानि पहुंचा सकते हैं. जैसे ही भोपाल कंट्रोल रूम से इसकी सूचना विदिशा पुलिस को मिली तो तुरंत ही विदिशा रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ (RPF) जीआरपी (GRP) और विदिशा पुलिस बल के साथ एडिशनल एसपी संजय साहू,  सीएसपी विकास पांडे सहित टीआई  ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर ट्रेन को रोक लिया. 

पुलिस ने पूरी ट्रेन की सर्चिंग की गई 1-1 यात्रियों से पूछताछ की गई. हालांकि सुखद स्थिति रही कि लुटेरे ट्रेन में नहीं मिले, उसके बाद ही ट्रेन को भोपाल रवाना किया गया. लेकिन अचानक विदिशा रेलवे स्टेशन पर भारी संख्या में जिला पुलिस बल, जीआरपी, आरपीएफ के जवानों को देखकर आसपास के लोग सहम उठे. क्योंकि सभी को किसी अनहोनी घटना की आशंका थी. हालांकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. वहीं ट्रेन में एक साथ इतना पुलिस बल देखकर यात्री भी परेशान हो गए. लेकिन पुलिस ने पूरी स्थिति को नियंत्रण में होने के बाद ही ट्रेन को रवाना किया. 

पुलिस के जवान ट्रेन के साथ भोपाल भेजे हैं 
मामले की जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय साहू ने बताया कि भोपाल कंट्रोल रूम के अलावा विदिशा जीआरपी पुलिस से उन्हें सूचना मिली था कि कुछ हथियारबंद लुटेरे ट्रेन में लूटपाट कर रहे हैं. इस बात की जानकारी लगते ही भारी संख्या में पुलिस बल कोतवाली थाना, सिविल थाना समेत सीएसपी टीआई सारे लोग स्टेशन पर पहुंच गए थे. उन्होंने बताया कि पहले ट्रेन को गुलाबगंज स्टेशन पर रोकने की कोशिश की थी. लेकिन ट्रेन आगे निकल गई. 

एडिशनल एसपी ने बताया कि फिर यह तय किया गया कि ट्रेन को विदिशा में रोका जाए और रेलवे स्टेशन की इसकी जानकारी दे दी गई. जिसके बाद ट्रेन को विदिशा में सर्चिंग की गई. एक-एक यात्री की तलाशी ली. लेकिन जेसी जानकारी मिली थी उस तरह का कोई मामला सामने नहीं आया. हालांकि एक कोच में दो लड़कों लड़ाई की सूचना मिली थी. लेकिन इससे ज्यादा कुछ नहीं था. सुरक्षा के मद्देनजर विदिशा से जीआरपी आरपीएफ और अपने पुलिस के जवान ट्रेन के कोच के साथ भोपाल तक भेजा है. लेकिन इस तरह की कोई घटना सामने नहीं आई. 

ये भी पढ़ेंः बस में जा घुसी तेज रफ्तार कार, टाइल्स खरीदने बड़ौदा जा रहे 4 लोगों की मौके पर मौत

WATCH LIVE TV