डॉ.नीरज पाठक हत्याकांड में बड़ा खुलासा, प्रोफेसर पत्नी ने ही की थी हत्या, पहले जहर दिया और फिर लगाया करंट

डॉ. नीरज पाठक और उनकी प्रोफेसर पत्नी ममता पाठक के बीच पिछले 11 सालों से विवाद चल रहा था.

डॉ.नीरज पाठक हत्याकांड में बड़ा खुलासा, प्रोफेसर पत्नी ने ही की थी हत्या, पहले जहर दिया और फिर लगाया करंट

छतरपुरः छतरपुर के मशहूर मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. नीरज पाठक हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने हत्या के आरोप में डॉ. नीरज पाठक की पत्नी ममता पाठक को गिरफ्तार किया है. पुलिस पूछताछ में ममता ने बताया है कि पहले उसने डॉ. नीरज को खाने में जहर दिया और उसके बाद उन्हें करंट लगाया. 

पति-पत्नी के बीच था विवाद
डॉ. नीरज पाठक और उनकी प्रोफेसर पत्नी ममता पाठक के बीच पिछले 11 सालों से विवाद चल रहा था. इसके चलते दोनों साथ नहीं रहते थे और अलग-अलग रहते थे. हालांकि सितंबर 2020 में दोनों के बीच सुलह हो गई और ममता पाठक अपने बेटे को साथ लेकर डॉ. नीरज पाठक के घर रहने आ गई थी. दरअसल ममता, डॉ.नीरज पाठक के चरित्र पर शक करती थी. जिसके चलते दोनों के बीच विवाद होता रहता था. दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ तीन बार पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी. 

पुलिस को पत्नी पर ही हत्या का शक
डॉ. पाठक की मौत के बाद से ही पुलिस को उनकी पत्नी ममता पाठक पर शक था. जिसके आधार पर पुलिस 7 मई को ममता पाठक को हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद 8 मई को गिरफ्तार कर लिया.  

पूरी साजिश के तहत की हत्या
नई दुनिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस पूछताछ में ममता ने बताया कि उसने एक वीडियो देखा था, जिसमें बताया गया था कि अगर जहर देने के बाद शव दो दिन तक पड़ा रहे तो पोस्टमार्टम में जहर देने की बात पता नहीं चलती है. इसी के तहत ममता ने प्लान बनाया और डॉ. पाठक को खाने में जहर दे दिया. इतना ही नहीं डॉ. पाठक की मौत हुई है या नहीं ममता ने यह चेक भी किया. मौत हुई है या नहीं इसकी पुष्टि करने के लिए ममता ने बाद में डॉ. पाठक को करंट भी लगाया. डॉ. पाठक की मौत होने के बाद ममता अपने बेटे को लेकर झांसी चली गई और रास्ते में बेतवा नदी में बिजली के एक्सटेंशन बोर्ड को फेंक दिया. 

डॉ. पाठक का ऑडियो हुआ था वायरल
मौत से कुछ दिन पहले ड. पाठक का एक ऑडियो भी वायरल हुआ था. जिसमें उन्होंने कहा था कि उनकी पत्नी ने उन्हें बंधक बनाकर रखा है और उन्हें खाना-पीना नहीं दे रही है. दरअसल डॉ. पाठक अपने एक रिश्तेदार से फोन पर बात कर रहे थे. उसी बातचीत का यह ऑडियो बताया जा रहा है. इस ऑडियो में डॉ. पाठक ने रोते हुए उन्हें बचाने की गुहार भी लगाई थी.  बता दें कि डॉ. पाठक का शव 1 मई को उनके घर में मिला था.