पहले मां, फिर पिता की हुई कोरोना से मौत, शादी की सालगिरह के दिन ही बेटे ने भी तोड़ा दम
X

पहले मां, फिर पिता की हुई कोरोना से मौत, शादी की सालगिरह के दिन ही बेटे ने भी तोड़ा दम

शशांक बैरागढ़ स्थित केनरा बैंक की शाखा में सीनियर मैनेजर के पद पर तैनात थे. अब शशांक के परिवार में उनकी पत्नी और बेटे के साथ ही बीमार बहन रह गई है. 

पहले मां, फिर पिता की हुई कोरोना से मौत, शादी की सालगिरह के दिन ही बेटे ने भी तोड़ा दम

भोपालः कोरोना का कहर कई परिवारों पर ऐसा टूटा है कि पूरे परिवार ही तबाह हो गए हैं. अब इस फेहरिस्त में एक और परिवार जुड़ गया है. बता दें कि भोपाल में रहने वाले बैंक मैनेजर शशांक दीक्षित ने कोरोना के चलते दम तोड़ दिया है. इससे पहले बीती 21 अप्रैल को शशांक की मां का कोरोना से निधन हो गया था. फिर 25 अप्रैल को शशांक के पिता भी कोरोना संक्रमण के चलते दुनिया से विदा हो गए. अब शशांक की भी मौत हो गई है. वहीं शशांक की बहन की हालत भी बेहद खराब है और वो वेंटिलेटर पर हैं. 

शादी की सालगिरह वाले दिन की तोड़ा दम
बता दें कि शशांक दीक्षित की 2012 में 29 अप्रैल के दिन ही शादी हुई थी. अब 29 अप्रैल को ही शशांक की कोरोना से जान चली गई है. शशांक बैरागढ़ स्थित केनरा बैंक की शाखा में सीनियर मैनेजर के पद पर तैनात थे. अब शशांक के परिवार में उनकी पत्नी और बेटे के साथ ही बीमार बहन रह गई है. 

7 माह पहले से केरल से हुआ था ट्रांसफर
भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, शशांक साल 2009 में ही बैंकिंग सेवा में आए थे. बीते साल सितंबर माह में ही शशांक का ट्रांसफर केरल से भोपाल हुआ था. 

एमपी में अब तक 46 बैंक कर्मियों की हुई मौत
मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कितनी खतरनाक साबित हो रही है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राज्य में अब तक 3672 बैंक कर्मी संक्रमित हो चुके हैं. इतना ही नहीं 46 बैंककर्मियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है. गुरुवार के दिन ही राज्य में 8 बैंककर्मियों की कोरोना से मौत हुई है. राज्य में 40 बैंक शाखाएं कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने के चलते बंद हैं. 

  

Trending news