MP के सभी जिलों में फिर शुरू हुए कोविड केयर सेंटर, संचालन पर खर्च होंगे इतने पैसे

मध्य प्रदेश के सभी जिलों में एक बार फिर कोविड केयर सेंटर शुरू किए गए हैं.   

MP के सभी जिलों में फिर शुरू हुए कोविड केयर सेंटर, संचालन पर खर्च होंगे इतने पैसे
फाइल फोटो

भोपालः मध्य प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों के चलते प्रदेश के सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर एक बार फिर से शुरू कर दिए गए हैं. कोरोना समीक्षा की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि  प्रदेश के जिलों में 94 कोविड केयर सेंटर का संचालन शुरू हो गया है. प्रदेश के सभी जिलों को 2 करोड़ रूपये व्यवस्था के लिए उपलब्ध कराए गए हैं. इसके अलावा मुख्यमंत्री राहत कोष से भी प्रत्येक जिले को एक-एक करोड़ रूपये अलग से दिए गए हैं. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज सीएम हाउस से सभी कलेक्टर्स, कमिश्नर्स, एसपी और आईजी से वर्चुअल चर्चा कर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हो रहे प्रयासों की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए है. सीएम ने बताया कि इन सभी कोविड केयर सेंटर में कोरोना मरीजों के इलाज के पूरी व्यवस्था की जाए. प्रदेश में लगातार स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाई जा रही है. किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है. 

सभी जिलों में पहुंचाए गए रेमडेसिविर इंजेक्शन 
सीएम शिवराज ने बताया कि इंदौर एयरपोर्ट पर 200 बॉक्स में कुल 9 हजार 264 रेमडेसिविर इंजेक्शन आए हैं. इनमें से स्टेट प्लेन के माध्यम से 42 बॉक्स भोपाल, 7 रतलाम और 4 खंडवा पहुंचाये गए. इसी तरह स्टेट प्लेन से 19 बॉक्स ग्वालियर, 18 रीवा, 39 जबलपुर और 14 सागर पहुंचाए गए हैं. जबकि इंदौर के लिए 57 रेमडेसिविर इंजेक्शन के बॉक्स रखे गए हैं. 

ये भी पढ़ेंः CM शिवराज के बेटे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, मुख्यमंत्री ने भी कराया टेस्ट

कलेक्टर की अहम जिम्मेदारी 
सीएम शिवराज ने कहा कि कलेक्टर्स कोरोना संक्रमण का पूरी ऊर्जा के साथ मुकाबला करें. नागरिकों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं. सावधानियों का पूरी तरह पालन हो. ऑक्सीजन, औषधियों और बिस्तरों की व्यवस्था सहित सभी आवश्यक कार्यों को यथा समय पूर्ण किया जाए. मुख्यमंत्री  ने वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा प्रदेश के कलेक्टर्स से चर्चा कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम और प्रबंधन के लिए किए जा रहे कार्यों की विस्तार से जानकारी भी प्राप्त की. 

कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से हो पालन 
सीएम शिवराज ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन हो. जहां कोरोना कर्फ्यू नहीं लगा है वहां आवश्यक हो तो करोना कर्फ्यू लगाया जाए. जिलों में प्रभारी बनाए गए मंत्रियों से भी कलेक्टर्स परामर्श करें, मुख्यमंत्री कार्यालय और स्वास्थ्य विभाग से भी सतत् संपर्क में रहें.

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस विधायक के भाई की कोरोना से मौत, BJP MLA के परिवार में भी फैला कोविड, CM शिवराज ने किया ट्वीट

WATCH LIVE TV