झूठा निकला युवती से गैंगरेप के बाद रेलवे ट्रेक पर फेंकने का दावा, बयान बदलने पर पुलिस को हुआ शक

युवती ने आरोप लगाया था कि कुछ युवकों ने अपहरण कर उसके साथ बारी-बारी दुष्कर्म किया. युवती ने शिकायत के दौरान कई बार अपना बयान बदला था, जिससे पुलिस को शक हो गया.

झूठा निकला युवती से गैंगरेप के बाद रेलवे ट्रेक पर फेंकने का दावा, बयान बदलने पर पुलिस को हुआ शक
युवती की मेडिकल जांच में दुष्कर्म का खुलासा नहीं हुआ खा

इंदौरः इंदौर के परदेशीपुरा थाने में बुधवार को एक युवती ने कुछ युवकों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था. युवती की शिकायत के 24 घंटे के अंदर ही पुलिस को पता चल गया है कि उसने गैंगरेप की झूठी कहानी बताई थी. अब पुलिस युवती पर मामला दर्ज करने की तैयारी कर रही है.

यह भी पढ़ेंः-भोपाल में Love Jihad का पहला मामला, आशु बन असद इंजीनियरिंग छात्रा का कर रहा था यौन शोषण

पूर्व प्रेमी को फंसाने के लिए रची थी साजिश
आईजी योगेश देशमुख ने बताया कि युवती ने अपने पूर्व प्रेमी को फंसाने के लिए झूठी कहानी रची थी. उन्होंने बताया कि युवती की शिकायत पर आरोपी युवकों को गिरफ्तार किया गया था, जिनके मोबाइल टॉवर की लोकेशन और घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया. लेकिन ये सभी परिस्थितियां युवती के बयानों से मेल नहीं खा रही थी.

युवती ने बार-बार बदले बयान
आईजी देशमुख ने बताया कि घटना के बाद युवती को एमवाय हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जहां उसने अपने बयान में पहले 4 युवकों द्वारा गैंगरेप की बात कही तो बाद में 5 युवकों का नाम लिया. इसके अलावा युवती का मेडिकल टेस्ट भी कराया गया था, जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई. उसने पूछताछ में झूठे आरोप लगाने की बात कबूल कर ली है, अपने पूर्व प्रेमी से बदला लेने के लिए ही उसने यह साजिश रची थी.

यह भी पढ़ेंः-मुरैना जहरीली शराब कांडः राजोरा कमेटी की जांच रिपोर्ट पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, CBI जांच की मांग

पुलिस अब बाकी तथ्यों की जांच कर रही है, युवती पर अब तक FIR दर्ज नहीं की गई है. लेकिन उस पर IPC की धारा 182, 211 के तहत मामला दर्ज करने के बाद कार्रवाई होगी.

क्या बताया था युवती ने
युवती ने बताया था कि बुधवार देर शाम वह परदेशीपुरा में कोचिंग जाते वक्त पहचान के एक दोस्त के साथ बाइक पर बैठकर गई थी. दोस्त उसे नंदीग्राम स्थित एक फ्लैट पर ले कर गया, जहां उसने दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप किया. 4 लड़कों ने गैंगरेप के बाद चाकू से हमला भी किया. फिर उसे बोरे में भर कर रेलवे ट्रेक पर फेंक दिया. उसने किसी तरह सहायता मांगी, जहां से एमवाय हॉस्पिटल पहुंच कर पुलिस से शिकायत की.

युवती की शिकायत पर पुलिस ने मामले में एक्शन लेते हुए आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया था. लेकिन युवती से पूछताछ के दौरान झूठे आरोप लगाने की बात का खुलासा हो गया.

यह भी पढ़ेंः- महिला अपराध पर नकेल कसने पुलिस अपनाएगी नया तरीका, बनेगी अपराधियों के परिजनों की कुंडली

WATCH LIVE TV