'कानून वापस लो नहीं तो करेंगे दिल्ली कूच', भरी ठंड में किसानों का अर्धनग्न प्रदर्शन
X

'कानून वापस लो नहीं तो करेंगे दिल्ली कूच', भरी ठंड में किसानों का अर्धनग्न प्रदर्शन

प्रदर्शनकारियों ने किसानी गीत गाकर विरोध प्रदर्शन किया. सिंघु बॉर्डर पर विरोध के दौरान अपनी जान गंवाने वाले किसानों को शहीद का दर्जा देते हुए उनकी शहादत पर मौन रहकर श्रद्धांजलि दी.

'कानून वापस लो नहीं तो करेंगे दिल्ली कूच', भरी ठंड में किसानों का अर्धनग्न प्रदर्शन

शैलेंद्र शर्मा/नरसिंहपुरः दिल्ली की सिंघु बॉर्डर पर पिछले 20 दिनों से किसान लगातार डटे हुए हैं. वे केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं. उसी आंदोलन की आग अब मध्य प्रदेश में भी बढ़ती नजर आ रही है. प्रदेश के नरसिंहपुर में मंगलवार को राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के कार्यकर्ताओं ने अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया.

भरी ठंड में अर्धनग्न प्रदर्शन
संघ के हजारों कार्यकार्तओं ने मार्च निकालते हुए कृषि कानूनों का विरोध किया. उनका मानना है कि तीनों कानून किसान विरोधी होने के साथ ही कृषि के लिए भी हानिकारक है. इन्हीं मांगों को लेकर हजारों कार्यकर्ता भरी ठंड में नरसिंहपुर कलेक्ट्रेट पहुंचे और अर्धनग्न हालत में जमकर विरोध प्रदर्शन किया.

यह भी पढ़ेंः- दिल से लेकर दांतों तक कईं परेशानियों का हल है तिल, जानें इसके 11 अद्भुत फायदे

कानून रद्द करने की मांग
कलेक्ट्रेट पहुंचे किसान संघ के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा. उन्होंने कानून को तत्काल वापस लेकर उसे रद्द करने की मांग की. बता दें कि पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों के किसान बीते 26 नवंबर से दिल्ली की सिंघु बॉर्डर पर इन्हीं मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने 8 दिसंबर को भारत बंद भी किया था.

किसानों को दिया शहीद का दर्जा
प्रदर्शनकारियों ने किसानी गीत गाकर विरोध प्रदर्शन किया. सिंघु बॉर्डर पर विरोध के दौरान अपनी जान गंवाने वाले किसानों को शहीद का दर्जा देते हुए उनकी शहादत पर मौन श्रद्धांजलि भी दी.

यह भी पढ़ेंः- सर्दी का मौसम, कब्ज की प्रॉब्लमः खाने में शामिल करें ये 11 चीजें, परेशानी से पाएं निजात

मोदी सरकार को दी चेतावनी
राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के जिला अध्यक्ष एकम सिंह पटेल ने कहा, "मोदी सरकार ने किसानों की अनदेखी कर तीनों बिल पास कराए हैं. अगर किसान कानून वापस नहीं लिए गए तो वे नेशनल हाइवे जाम करेंगे और भारी संख्या में दिल्ली की ओर कूच करेंगे."

किसान संघ के कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर कहा है कि जब तक कृषि कानून वापस नहीं लिए जाएंगे, तब तक वे दिल्ली में रहकर भी प्रदर्शन करने को तैयार है.

यह भी पढ़ेंः- श्रद्धांजलि: कोर्ट में मिली पत्नी के निधन की सूचना लेकिन जारी रखी बहस, ऐसे थे हमारे लौह पुरुष

यह भी पढ़ेंः- MP: कृषि मंत्री का विवादित बयान- "कुकुरमुत्ते की तरह उगे किसान संगठन, विदेशों से हो रही फंडिंग"

यह भी पढ़ेंः- जानलेवा फैक्ट्रीः सड़े आलुओं को वाशिंग पाउडर से साफ कर बना रहे थे चिप्स, जांच टीम के उड़े होश

यह भी पढ़ेंः- प्राइवेट स्कूल-कॉलेज ने की हड़ताल, नहीं ली ऑनलाइन क्लास, जानें उनकी 10 मांगें

WATCH LIVE TV

Trending news