कोरोना काल में जनता पर महंगाई की मार, इतने प्रतिशत बढ़ाया गया बसों का किराया

मध्य प्रदेश में बसों का किराया बढ़ा दिया गया है. 

कोरोना काल में जनता पर महंगाई की मार, इतने प्रतिशत बढ़ाया गया बसों का किराया
फाइल फोटो

भोपाल: कोरोना के बीच मध्य प्रदेश की जनता पर महंगाई एक और मार पड़ी है. मध्य प्रदेश में बसों का किराया महंगा हो गया है. प्रदेश सरकार ने प्राइवेट बसों के किराए में 25 प्रतिशत की वृद्धि कर दी है. परिवहन विभाग की तरफ से इसके निर्देश जारी कर दिए गए हैं. 

परिवहन विभाग की तरफ से जारी किए गए आदेश में बताया गया कि बस का न्यूतनम किराया 7 रुपए तय किया गया है. जबकि सामान्य तौर पर 1 रुपए 25 पैसे प्रति किलोमीटर की दर से किराया तय होगा। इसके अलावा लग्जरी बसों के किराए में 25 से 75% तक की वृद्धि तय की गई है. आदेश के बाद यह बढ़ा हुआ किराया लागू हो जाएगा. 

इस तरह बढ़ाया गया बसों का किराया 

  • रात्रि बस सेवा के लिए 10 प्रतिशत अधिक किराया 
  • डीलक्स बस (नॉन एसी) 25 प्रतिशत अधिक किराया 
  • स्लीपर बस 40 प्रतिशत अधिक किराया 
  • डीलक्स बस (एसी)  50 प्रतिशत अधिक किराया 
  • सुपर लग्जरी कोच(एसी) 75 प्रतिशत अधिक किराया 

ये भी पढ़ेंः शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, 18+ उम्र के लोगों को इस तारीख से फ्री में लगेगी कोरोना वैक्सीन

किराया बढ़ाए जाने की मांग कर रहे थे बस ऑपरेटर्स 
दरअसल, मध्य प्रदेश में बस ऑपरेटर्स लंबे समय से किराया बढ़ाए जाने की मांग कर रहे थे. बस ऑनर्स एसोसिएशन ने कोरोना महामारी का हवाला देते हुए कहा कि पिछले साल हुए  लॉकडाउन के कारण बसों का संचालन पूरी तरह से बंद रहा था, जबकि इस साल फिर कोरोना की रफ्तार बढ़ने की वजह से महाराष्ट्र सहित दूसरे कई राज्यों में बसों के संचालन पर रोक लगा दी गई थी. इसके अलावा मध्य प्रदेश में भी कोरोना कर्फ्यू लागू होने से बसों का संचालन मुश्किल हो रहा था. जबकि डीजल के दाम बढ़ने से बस ऑपरेटर्स ने लागत नहीं निकल पाने की बात कही थी. जिसके चलते उन्होंने अपने नुकसान की बात कहते हुए प्रदेश में बसों का किराया बढ़ाए जाने की मांग की थी.

ये भी पढ़ेंः बीजेपी विधायक ने कहा- सरकार पर निर्भर न रहें, कांग्रेस बोलीं- तो क्या पाकिस्तान जाएं इलाज कराने

WATCH LIVE TV