MP में बड़ी चोरीः सेना के हाई सिक्योरिटी इलाके से तोप के गोले चोरी, अधिकारियों को भनक तक नहीं लगी

जबलपुर (jabalpur) में लॉन्ग प्रूफ रेंज (LPR) से धनुष तोप (dhanush cannon) में चलाए जाने वाले तीन गोले चोरी हो गए हैं. वहीं अधिकारियों को इस बात की भनक तक नहीं लगी.

MP में बड़ी चोरीः सेना के हाई सिक्योरिटी इलाके से तोप के गोले चोरी, अधिकारियों को भनक तक नहीं लगी
लॉन्ग प्रूफ रेंज (फाइल फोटो)

जबलपुरः मध्य प्रदेश में चोरों के हौसले कितने बुलंद हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता कि चोरों ने जबलपुर (jabalpur) के खमरिया क्षेत्र में बने सेना के लॉन्ग प्रूफ रेंज (एलपीआर) में भी हाथ साफ कर दिया. यहां से चोर, धुनष तोप के तीन गोले चोरी करके ले गए. यह पूरा क्षेत्र सेना के अधीन आता है. जो गोले चोरी हुए है उनकी कीमत 6 लाख रुपए बताई जा रही है.

जहां कोई नहीं जा सकता वहां चोरी हो गई
दरअसल, जबलपुर में बना लॉन्ग प्रूफ रेंज (एलपीआर) भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के अधीन आता है. जहां रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों की परमिशन के बिना कोई अंदर भी नहीं जा सकता. क्योंकि यहां पर सेना के गोला-बारूद का परीक्षण किया जाता है. इसी जगह पर धनुष तोप के गोले रखे थे. लेकिन 19 फरवरी की रात चोर यहां पहुंचे और तोप के तीने गोले चुराकर भाग निकले. जिसकी जानकारी सुबह अधिकारियों को लगी.

सेना के अधिकारियों ने पुलिस में दर्ज कराई रिपोर्ट
सुबह जैसे ही लॉन्ग प्रूफ रेंज में तोप के गोले चोरी होने की बात सामने आई तो हड़कंप मच गया. घटना के बाद सेना के अधिकारियों ने मामले की रिपोर्ट खमरिया पुलिस थाने में दर्ज कराई है. जिसके बाद पुलिस चोरों की तलाश में जुटी है. लेकिन इस चोरी से लॉन्ग प्रूफ रेंज की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे हैं. चोर जो तीन गोले चुराकर कर ले गए हैं वे यहां परीक्षण के लिए रखे हुए थे. ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि चोरों को इस बात की जानकारी पहले से होगी कि यहां गोले पहले से रखे हुए हैं. जिससे चोरों ने बड़े शातिर तरीके से चोरी की इस वारदात को अंजाम दिया है.

दरअसल, जबलपुर में स्थित ऑर्डनेंस फैक्ट्री खमरिया में शक्तिशाली तोप धनुष निर्माण किया जाता है. इसी तोप के गोलों को सेना के परीक्षण के लिए एलपीआर में लाया गया था. बताया जा रहा है कि यह गोले 125 एमएम के होते हैं. फिलहाल पुलिस और सेना के अधिकारी भी चोरों की तलाश में जुटे हैं.

WATCH LIVE TV