"रेडी टू ईट आहार योजना" का हाल बेहाल, बच्चों में बढ़ा कुपोषण का खतरा, कागजों पर कर दी गई खानापूर्ति

बच्चों में कुपोषण का खतरा बढ़ गया है. छोटे-छोटे बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है. कोरोना संक्रमण के कारण पिछले एक साल से आंगनबाड़ी केंद्र बंद हैं. ऐसे में सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर रेडी-टू-ईट फूड बांटने का आदेश दिया.

"रेडी टू ईट आहार योजना" का हाल बेहाल, बच्चों में बढ़ा कुपोषण का खतरा, कागजों पर कर दी गई खानापूर्ति
"रेडी टू ईट आहार योजना" का हाल बेहाल

सरवर अली/ कोरिया: कोरिया जिले में 'रेडी टू ईट' आहार योजना का हाल बेहाल है. आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को रेडी-टू-ईट फूड दिया जाता है. वहीं गर्भवती माताओं को टेक होम राशन और पूरक पोषण आहार भी दिया जाता है. कोरोना संक्रमण के कारण पिछले एक साल से आंगनबाड़ी केंद्र बंद हैं. राज्य सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर रेडी-टू-ईट फूड बांटने के आदेश जारी किए हैं. ऐसे में जिम्मेदार कागजों पर ही बच्चों और गर्भवती महिलाओं को रेडी-टू-ईट फूड बांटने की खानापूर्ति कर रहे हैं.

बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़
कोरिया जिले के चिरमिरी महिला एवं बाल विकास परियोजना क्षेत्र के गेलापनी की बात करें या भरतपुर ब्लॉक के मलकडोल में, रेडी-टू-ईट आहार योजना का हाल-बेहाल है. छोटे-छोटे बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है. कोरोना संक्रमण के कारण पिछले एक साल से आंगनबाड़ी केंद्र बंद हैं. ऐसे में सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर रेडी-टू-ईट फूड बांटने का आदेश दिया है. इसके बावजूद गेलापनी, मलकडोल में पिछले एक साल से बच्चों को रेडी-टू-ईट फूड नहीं मिल रहा है. इससे बच्चों में कुपोषण का खतरा बढ़ गया है.

नहीं मिला महिलाओं को आहार
महिलाओं का कहना है कि जब से लॉकडाउन लगा है तब से हमें एक दो बार ही रेडी टू ईट मिला है, उसके बाद से नहीं मिला, गर्भवती महिलाओं का कहना है कि हमें तो एक बार भी पौष्टिक आहार नहीं मिला.

कठोर कार्रवाई की जाएगी
जिला महिला एवं बाल विकास विभाग कार्यक्रम अधिकारी एम .के खलको कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों की समय-समय पर समीक्षा बैठक ली जाती है. आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहायिकाओं के द्वारा घर जाकर रेडी टू ईट भोजन दिया जाना है. यदि किसी से लापरवाही हुई है जांच के पश्चात संबंधित पर कठोर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा जनता का पैसा, नगर पालिका पार्षदों ने 1 करोड़ 19 लाख रुपए से खरीद डाली केवल कुर्सियां!

WATCH LIVE TV