Karwa Chauth 2020: सुहागिनों को चांद का इंतजार, जानें आपके शहर में कब होगा दीदार

सुहागिन महिलाओं का बड़ा त्यौहार करवा चौथ है. उत्तरी भारत के दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में करवा चौथ का त्यौहार खास तौर पर मनाया जाता है. इस दिन विवाहित महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं. पूरे दिन बिना जल ग्रहण किए व्रत रखती हैं.

Karwa Chauth 2020: सुहागिनों को चांद का इंतजार, जानें आपके शहर में कब होगा दीदार
फाइल फोटो

भोपाल: सुहागिन महिलाओं का बड़ा त्यौहार करवा चौथ है. उत्तरी भारत के दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में करवा चौथ का त्यौहार खास तौर पर मनाया जाता है. इस दिन विवाहित महिलाएं पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं. पूरे दिन बिना जल ग्रहण किए व्रत रखती हैं. रात को चंद्रमा को छलनी से देखकर अर्घ्य देकर व्रत खोलती हैं. महिलाओं को चांद का बेसब्री से इंतजार रहता है. इस रिपोर्ट में जानते हैं कि आपके शहर में कब निकलेगा चांद. 

करवा चौथ के चंद्रोदय का समय
मध्य प्रदेश- 8:32 बजे

इन शहरों में कब होगा चांद का दीदार
सतना में 8 बजकर 7 मिनट पर
छतरपुर में 8 बजकर 11 मिनट पर
जबलपुर में 8 बजकर 14 मिनट पर
टीकमगढ़ में 8 बजकर 17 मिनट पर
छिंदवाड़ा में 8 बजकर 20 मिनट पर
पचमढ़ी में 8 बजकर 21 मिनट पर

ये भी पढ़ें: फैसला हटकेः तलाक के लिए पहुंचे थे, कोर्ट ने कहा- जाओ पहले करवा चौथ मनाओ, जानें क्या है मामला

जानिए कौन कौन सी हैं करवा चौथ की पूजन सामग्री

करवा चौथ की थाली सजाना सबसे अहम होता है, इसमें कुमकुम, हल्दी, अक्षत रखे जाते हैं. शुद्ध जल का कलश लिया जाता है. इसी से चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाता है. यदि घर में गंगाजल है तो इसमें दो बूंद डाल दें. दीपक, रूई, देसी घी, कच्चा दूध, शहद, चीनी, मिठाई, करवा, लड़की की चौकी या पटिया, छलनी, दक्षिणा जरूर शामिल करें.

करवा चौथ पर ऐसे करें पूजा, जानिए पूरी विधि
चंद्रमा उदय होने के बाद उनकी पूजा आरंभ करें. सबसे पहले घी का दीपक जाएं. इसके बाद एक एक कर पूजन सामग्री चंद्रमा की ओर देखते हुए अर्पित करें, आखिरी में अर्घ्य चढ़ाएं. छलनी में चंद्रमा और पति के दर्शन करें और पति के हाथों से जल ग्रहण कर व्रत तोड़ें. इसके बाद भोजन कर सकते हैं.

WATCH LIVE TV: